दीपावली पारंपरिक एवं हर्षोल्लास से मनाई गई, दीयों की जगमगाये घर

- in Main Slider, ख़ास खबर, राष्ट्रीय

नई दिल्ली। पूरे देश में प्रकाश पर्व दीपावली बुधवार को पारंपरिक श्रद्धा एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। लोगों ने अपने घरों एवं प्रतिष्ठानों को दीपों एवं झालरों से सजा कर और पटाखे चलाकर तथा मित्रों एवं रिश्तेदारों में मिठाइयां बांट कर परस्पर खुशियां मनायी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-चीन सीमा के पास बर्फीले पहाड़ों पर सेना और भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के जवानों के साथ दिवाली मनाई। मोदी ने जवानों से कहा कि दूर-दराज के इलाकों में बर्फीले पहाड़ों पर ड्यूटी करने की उनकी लगन राष्ट्र की ताकत को और मजबूत बनाती है। हर्षिल छावनी क्षेत्र में जवानों को शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे अपनी प्रतिबद्धता और अनुशासन के जरिये 125 करोड़ भारतीयों के सपने एवं भविष्य को सुरक्षित करते हैं और लोगों में सुरक्षा और निडरता का भाव पैदा करने में मदद करते हैं।

मोदी ने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की मौजूदगी में सैनिकों से कहा, ”आप हमारी जमीन के केवल एक कोने की रक्षा नहीं कर रहे हैं। देश की सरहदों की सुरक्षा करके, आप 125 करोड़ भारतीयों के सपनों और जिंदगियों की सुरक्षा कर रहे हैं।

बाद में प्रधानमंत्री ने केदारनाथ जाकर पूजा अर्चना की और केदारपुरी में चल रही पुनर्निर्माण परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत-चीन सीमा के निकट अरुणाचल प्रदेश में सुदूर चौकियों में सेना के जवानों के साथ दिवाली का जश्न मनाया। कोहिमा के रक्षा प्रवक्ता कर्नल चिरंजीत कंवर ने बताया कि उन्होंने पहले सीमा के निकट अग्रिम चौकी रोचचाम के लिए उड़ान भरी और इसके बाद अंजॉ जिले में हुलियांग चौकी की यात्रा की। हुलियांग में उन्होंने जवानों के साथ दिवाली मनायी और मिठाइयां बांटी गई। उन्होंने जवानों की समृद्धि और खुशी की कामना की।

दिवाली पर रोशनी से नहाया अमृतसर का स्वर्ण मंदिर

राजधानी दिल्ली सहित देश के विभिन्न इलाकों में दीपावली पर विशेष चहल पहल देखी गयी। लोगों ने इस अवसर पर शाम को होने वाले लक्ष्मी गणेश पूजन से पहले त्योहार के लिए खरीददारी की। राजधानी में इस बार उच्चतम न्यायालय के आदेश के कारण पिछले कुछ सालों की तुलना में अपेक्षकृत कम पटाखे चलाये गये। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए न्यायालय ने अपने एक आदेश में कहा था कि दीपावली के दिन रात आठ बजे से दस बजे तक निर्धारित स्थलों पर ही हरित पटाखे चलाये जाएंगे।

दिल्ली की वायु गुणवत्ता बुधवार को ‘खराब से ‘बहुत खराब श्रेणी के बीच बनी रही। अधिकारियों ने आगाह किया कि भले ही आंशिक रूप से विषाक्त पटाखे जलाए जाते हैं तो भी पिछले साल की तुलना में दिल्ली की वायु गुणवत्ता और खराब हो सकती है।

पढे:- जमघट आज, छतों से आवाज आयी … वो काटा अखिलेश को वो कटे मोदी 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 281 दर्ज किया गया जो ‘खराब श्रेणी में आता है। भारत के विभिन्न स्थलों में दीपावली के अवसर पर मंदिरों को भी सजाया गया है। मंदिरों में रंग बिरंगे प्रकाश की विशेष व्यवस्था की गयी है। लोगों ने शाम को लक्ष्मी-गणेश पूजन के बाद अपने मित्रों एवं रिश्तेदारों को मिठाइयां बांटी तथा पटाखे चलाये।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के वनटांगियां गांव तिनकोनिया नं0-3 में बुधवार को करीब 215 लाख रुपये की लागत से कुल छह परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास कर ग्रामीणों को दीपावली की सौगात दी। योगी पिछले कई सालों से गोरखपुर के वनटांगियां गांव में दीपावली मनाने आते है। राजस्थान में दिवाली का त्योहार बुधवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। प्रदेशवासियों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर दिवाली की शुभकामनाएं दी, वहीं छोटे बच्चों ने पटाखे छोड़कर त्योहार का आनंद उठाया।

राजधानी जयपुर के बाजारों में देर रात तक लोग खरीददारी करते नज़र आये। कपडों, मिठाई, सजावटी सामान और पटाखों की दुकानों पर लोगों की खासी भीड़ देखी गई। पटाखों की दुकानों पर बच्चों में खासा उत्साह देखा गया। त्योहार को ध्यान में रखते हुए देश के विभिन्न क्षेत्रों विशेषकर भीड़ भाड़ और सुरक्षा की दृष्टि से संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किये गये हैं। राजधानी में भीड़भाड़ वाले इलाकों में यातायात व्यवस्था बनाये रखने के लिये माकूल इंतजाम किये गये है।

संवदेनशील और भीड़भाड़ वाले इलाकों में अतिरिक्त पुलिसकर्मी और अधिकारियों को कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये तैनात किया गया है। सीमावर्ती इलाकों में तैनात सैनिकों तथा सेना की यूनिटों ने दीपावली के अवसर पर परस्पर मिठाइयां बांटी और एक दूसरे को शुभकामनाएं दीं।

पढे:- दीपावली पर राजभवन के दरवाजे हर खास व आम के लिए खोले गए 

अमृतसर के समीप अटारी-वाघा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और पाकिस्तानी रेंजर के जवानों ने दीपावली के अवसर पर मिठाइयों का आदान प्रदान किया और शुभकामनाएं दीं।

उत्तरी कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के नियंत्रण रेखा (एलओसी) के निकट 2015 में आतंकवादियों से लड़ते हुये अपने प्राणों का बलिदान करने वाले महाराष्ट्र के एक सैन्य अधिकारी के सहपाठियों ने उनकी यूनिट के जवानों के लिए 250 किलोग्राम मिठाई भेजी।

loading...
Loading...

You may also like

PM मोदी ने देश को महाशक्ति के रूप में किया दुनिया में स्थापित : योगी

लखनऊ। प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा