लखनऊ यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा ट्रिपल तलाक

Loading...

लखनऊ। लखनऊ यूनिवर्सिटी के समाजशास्त्र विभाग ने एमए थर्ड और फोर्थ सेमेस्टर में दो नए पेपर शामिल किए हैं। इनके सिलेब्स को बोर्ड ऑफ स्टडीज ने भी पास कर दिया है। अब अकैडमिक काउंसिल से मंजूरी मिलने के बाद इसे नए सत्र में लागू करने की तैयारी चल रही है।

 लखनऊ यूनिवर्सिटी (एलयू) में अब एमए के विद्यार्थियों को तीन तलाक के बारे में पढ़ाया जाएगा। समाजशास्त्र विभाग ने एमए थर्ड और फोर्थ सेमेस्टर में दो नए पेपर शामिल किए हैं। इनमें पहला पेपर ‘पर्यावरण का समाजशास्त्र’ और दूसरा ‘विधि एवं समाज’ होगा। दोनों पेपर का सिलेबस बोर्ड ऑफ स्टडीज से पास होकर फैकल्टी बोर्ड को भेजा गया है। बोर्ड से अकैडमिक काउंसिल में मंजूरी मिलने के बाद इसे नए सत्र से लागू करने की तैयारी है।

एलयू के समाजशास्त्र विभाग के प्रो. सुकांत चौधरी ने बताया कि अभी तक एमए थर्ड और फोर्थ सेमेस्टर में आठ वैकल्पिक पेपर होते थे। अब दो नए वैकल्पिक पेपर का सिलेबस तैयार किया गया है। फोर्थ सेमेस्टर में ‘विधि एवं समाज’ विषय के पेपर के सिलेबस में परिवार, धर्म, सामाजिक नियंत्रण से लेकर ट्रिपल तलाक में कानूनी संशोधन और समाज में उसके प्रभाव को शामिल किया गया है। इसके अलावा पेपर में अपराध और उसके प्रकार और उनसे बचने के उपाय भी पढ़ाया जाएगा।

समाजशास्त्र विभाग के हेड प्रो. डीआर साहू ने बताया कि एमए थर्ड सेमेस्टर में ‘पर्यावरण का समाजशास्त्र’ विषय के पेपर के सिलेबस में समकालीन पर्यावरण संबंधी समस्याओं के बारे में पढ़ाया जाएगा। इसके अलावा विद्यार्थी ग्लोबल वॉर्मिंग, नर्मदा और चिपको आंदोलन के बारे में भी पढ़ेंगे। प्रो. डीआर साहू ने बताया कि दोनों पेपर ऑप्शनल होंगे। प्रत्येक पेपर के सिलेबस को चार-चार यूनिट और 40 पीरियड में बांटा गया है।

एलयू में बीए ऑनर्स के पांचवें और छठे सेमेस्टर में पर्यावरण साइकॉलजी का पेपर शुरू करने की तैयारी है। साइकॉलजी विभाग की हेड मधुरिमा प्रधान ने बताया कि पर्यावरण को बचाने और लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से इसका सिलेबस तैयार किया गया है। इसका सिलेबस चार यूनिट में होगा। पेपर 100 अंक का होगा।

Loading...
loading...

You may also like

विदेश मंत्रालय के नाम से बनी पासपोर्ट की इस फर्जी वेबसाइट से सावधान रहें

Loading... 🔊 Listen This News विदेश मंत्रालय ने