डीजीपी ने जीआरपी मुख्यालय में किया इंटीग्रेटेड कण्ट्रोल रूम का उद्घाटन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने गुरुवार को चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंचे। यहां उन्होंने जीआरपी मुख्यालय में इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया। इस मौके पर एडीजी रेलवे संजय सिंघल सहित तमाम अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम के उद्घाटन से रेल यात्रियों को कोई भी असुविधा होने पर जीआरपी के साथ-साथ यूपी पुलिस की सेवा मिलेगी। ट्रेन, रेलवे स्टेशन व प्लेटफॉर्म में होने वाले अपराध या किसी अन्य शिकायत और मदद के लिए यात्री अब 100 नंबर पर कॉल कर सकते हैं। जीआरपी के कंट्रोल रूम को यूपी 100 के साथ जोड़ दिया गया है।

डीजीपी ने कहा कि प्रदेश में जीआरपी के 65 थाने, एसपी स्तर पर छह कंट्रोल रूम और एक कंट्रोलरूम इंदिरा भवन स्थित जीआरपी मुख्यालय पर है। जीआरपी के सभी थानों की जिओफेंसिंग और जिओमैपिंग की गई है। जैसे ही कोई पीडि़त किसी ट्रेन या स्टेशन से मदद के लिए 100 नंबर पर कॉल करेगा। उसकी लोकेशन और संबंधित थानाक्षेत्र कॉल रिसीव करने वाले की स्क्रीन पर दिखेगी। यूपी 100 के कॉल टेकर पीडि़त से मामले की डिटेल लेने के बाद इवेंट को जीआरपी के कंट्रोल रूम को ट्रांसफर कर देंगे। वहां से डिटेल कार्रवाई के लिए संबंधित थाने को भेज दी जाएगी।

ये भी पढ़ें:- क्राइम ब्रांच ने 15 हजार के इनामिया वीरू को दो साथियों के साथ किया गिरफ्तार

जीआरपी कंट्रोल रूम में शिकायत व मदद के लिए 1912 और 9454402544 भी पहले की तरह कार्यरत रहेंगे। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से इंटीग्रेशन के काम को आगे बढ़ाया है। यूपी 100 को फायर के साथ एंबुलेंसेस के साथ इंटीग्रेट किया गया है। महिला सम्मान प्रकोष्ठ को कैसे इंटीग्रेट करें इस पर विचार चल रहा है। कुम्भ मेले में कैसे इसे इस्तेमाल किया जाएगा, इस पर भी चर्चा चल रही है। एसबीआई ने पिछले कुछ महीनों में रिलेशन्स मैनेजर्स की पोस्ट क्रिएट की है। क्या ऐसे संभव नहीं है कि हम भी अपने कुछ सिटीजेन्स को चुनें गरीब और प्रताडि़त लोगों की समस्याओं को समझे जनता को एक फेमिली की तरह रखकर सच्चे पुलिस मित्र की कल्पना हो सकती है।

यूपी 100 के योगदान का पूरा फायदा उठाए जीआरपी

डीजीपी ने कहा कि किसी लूट की एक घटना किसी व्यक्ति विशेष के प्रति नहीं बल्कि पूरे वातावरण को प्रभावित करती है। इंटीग्रेट से बढिय़ा और कोई माध्यम नहीं हो सकता है। रिस्पॉन्स आज के जमाने में अगर स्मार्ट नहीं हुआ तो आपका सारा सिस्टम कोलैप्स कर जाएगा। कितना ह्यूमेन रिस्पॉन्स होता है ये जरूरी है अगर डायल 100 से गाली की आवाज आई तो वो स्मार्ट ह्यूमेन रिस्पॉन्स नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि जीआरपी यूपी 100 के योगदान का पूरा फायदा उठाए।

युवती के ट्वीट से ट्रेन से पकड़े गए थे शराबी

सोशल मीडिया में 4 से 5 महीने पहले एक लड़की ने ट्वीट किया था कि चार आदमी शराब पी रहे है एक कंपार्ट्मेंट में। उनको अगले स्टेशन पर पकड़कर जेल भेजा गया। उस लड़की ने कहा इस फेसलेस पुलिस जिसको देखा नहीं था। उसने बहुत अच्छा रिस्पॉन्स किया। एसडीआरएफ में क्विक रिस्पॉन्स चाहिए उसको भी देख रहे हैं। एक ही बिल्डिंग में नए भवन में जहां पुलिस के सभी मु यालय एक ही जगह हो और हम अपनी ऊर्जा का अच्छा इस्तेमाल कर पाएं। उस दिन का इंतजार है।

loading...
Loading...

You may also like

राफेल डील पर अमित शाह का राहुल पर हमला, कहा- खुद क्यों नहीं गए सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। राफेल लड़ाकू विमान सौदे मामले में