ड्यूटी के दौरान सिपाही की हत्या देख डीजीपी ओपी सिंह के छलके आंसू

लखनऊ। युवतियों से छेड़छाड़ के विरोध में एक विधायक के बेटे ने सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी। शहीद की पत्नी लोगों से सवाल करती रही कि आखिर उसके पति की क्या गलती थी ? जो उसकी हत्या कर दी। वह अपनी ड्यूटी निभा रहा था। आखिर क्यों? यह देखकर डीजीपी ओपी सिंह के आंसू छलक आएं। सोमवार शाम को 1090 चौराहे पर ईप्टा संस्था की ओर से हुसैनगंज के रहने वाले वाले इच्छाशंकर ने अपने 11 कलाकारों के साथ नुक्कड़ नाटक पुलिस का इकबाल का आयोजन किया। जिसमें पुलिस कर्मियों की पीड़ा और कर्तव्यनिष्ठा को दिखाया गया। इस दौरान डीजीपी ओपी सिंह, एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत काफी पुलिस कर्मी मौजूद थे। नाटक समाप्त होने के बाद डीजीपी ने कलाकारों की प्रशंसा करते हुए उन्हें पुरस्कृत किया।

हुसैनगंज निवासी इच्छाशंकर ने बताया पुलिस का इकबाल को लेकर नुक्कड़ नाटक के जरिए समाज को संदेश दिया कि पुलिस कर्मी किस तरह अपने परिवार को छोड़कर, जान पर खेलकर हम लोगों की रक्षा करते हैं। उन्हें छुट्टी नहीं मिलती है। इसके बावजूद वह मौन रहकर नौकरी करते हैं। कलाकारों ने यह भी संदेश दिया कि पुरानी नियमावली बदली जाए तो पुलिस कर्मियों का काम देखे। नाटक के दौरान डीजीपी ओपी सिंह भावुक हो गए।

पढे:- अभिजीत मर्डर केस में मां को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा जेल 

उन्होंने बताया कि थोड़ी देर के इस नुक्कड़ नाटक ने पुलिस कर्मी और उनके परिवार पर बीतने वाली हकीकत को बयां कर दिया है। पुलिस वाले परिवार के साथ कोई त्योहार या छुट्टी नहीं मना सकते हैं। उनका फर्ज सामने आ जाता है। लोगों को पुलिस के लिए अपना नजरिया बदलना चाहिए। पुलिस पर अपने ऊपर होने वाले हमले के बावजूद मौन रहती हैं। इस नाटक में इच्छाशंकर, कलाकार कशिश, शिवेंद्र शर्मा, गौरव सिंह, खुशी सिंह, स्वाति मिश्रा, फराजउद्दीन, तुषार, अनुपम मिश्रा, वत्सल व ओंमकार आदि शामिल रहे।

रोका ट्रैफिक, लगा जाम

डीजीपी ओपी सिंह की गाड़ी 1090 चौराहे पर पहुंची। इस पर ट्रैफिक पुलिस कर्मियों ने वाहनों को रोक दिया। जिससे यहां पर जाम की स्थिति बन गई। उनके लौटने पर भी ऐसी ही स्थिति से लोगों को रुबरु होना पड़ा।

loading...
Loading...

You may also like

सिपेट कॉलेज पर कृष्ण के पिता ने लगाया लापरवाही का आरोप, छात्रों ने मचाया हँगामा

लखनऊ। सरोजनीनगर के नादरगंज स्थित सिपेट कॉलेज में