Main Sliderक्राइमख़ास खबरजम्मू कश्मीरनई दिल्लीराष्ट्रीय

पुलिस महानिदेशक दिलबाग ने बताया अब तक के आतंकी हिंसा में साठ फीसदी की कमी

जम्मू कश्मीर। आए दिन हर रोज सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच लगातार मुड़भेड़ की खबर सामने आ रही हैं। जिसमें कई आतंकी भी ढेर हो रहे हैं। साथ ही सुरक्षाबलों के शहीद होने की भी खबर आ रही हैं। इसी मुद्दे को लेकर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने नई दिल्ली में केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की। जिसमें उन्होने केंद्र शासित जम्मू कश्मीर में सुरक्षा परिदृश्य की स्थिति की पूरी जानकारी दी हैं।

उन्होने बताया कि इस साल 2020 में अब तक के डेढ़ महीने में पिछले साल की तुलना में आतंकी हिंसा में साठ फीसदी की कमी पाई गई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कानून व्यवस्था की स्थिति की कोई बड़ी समस्या नहीं है। आतंकवादियों से मुठभेड़ के स्थलों पर पत्थरबाजी की घटनाएं भी नहीं हो रही है।

उन्होंने कहा इस साल 13 फरवरी तक 20 आतंकवादियों को मार गिराया गया है। चार को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा श्रीनगर में ग्रेनेड हमलों में शामिल 12 आतंकवादियों को भी गिरफ्तार किया गया है। 43 ओवर ग्राउंड वर्कर भी पकड़े गए हैं।

शादीशुदा कपल्स कैसे सजाएं अपना घर और रखें मूड को फ्रेश 

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों में 10 जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन के थे। घुसपैठ कर आए तीन आतंकवादियों को बन टोल प्लाजा के पास मार गिराया गया। 11 आतंकवादी हिजबुल मुजाहिद्दीन के हैं।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने सुरक्षाबलों खासतौर से जम्मू कश्मीर पुलिस व अर्ध सैनिक बलों व सेना के आपसी समन्वय की प्रशंसा की। उन्होंने संतोष जताया कि उपराज्यपाल शासन में कोई भी बड़ी कानून व्यवस्था की समस्या पैदा नहीं हुई है। दिलबाग सिंह ने बताया कि सर्विलांस तंत्र को मजबूत किया गया है। इसके परिणाम में दक्षिण कश्मीर के सात युवाओंं जोकि आतंकवादी बनने के लिए जा रहे थे उन्हें उनके परिवारों को सौंपा गया है।

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.