घर के भेद किसी को न बताएं स्त्री,हम नहीं ऐसा द्रौपदी ने कहा है,

- in धर्म
महाभारत की सबसे खूबसूरत और रहस्यमयी महिला द्रौपदी है। पांच पतियों के बावजूद उसे संसार की श्रेष्ठतम चरित्र और गुणों वाली महिला माना गया है। द्रौपदी ने संसार की सभी नारियों को लेकर 4 महत्वपूर्ण बातें कही है। आइए जानते हैं…
1. द्रौपदी ने कहा है स्त्रियों को कभी भी छोटी सोच नहीं रखना चाहिए वरना घर में बरकत नहीं रहती है। दोनों परिवार के सदस्यों के प्रति समान व्यवहार करना चाहिए। अगर सामने वाला गलत है तब भी अपने व्यवहार में परिवर्तन न लाएं लेकिन स्वाभिमान से समझौता कभी न करें।
2. एक अच्छी और सच्ची स्त्री को हमेशा बुरी स्त्रियों से दूरी बना कर रखना चाहिए। स्त्री को न सिर्फ बुरे पुरुषों से बल्कि बुरी स्त्रियों से भी दूर रहना चाहिए। बुरी स्त्रियां अपने आचरण से दूसरे घर को भी बर्बाद कर देती हैं।
3. द्रौपदी ने संदेश दिया है कि स्त्री के लिए उसका पति ही सब कुछ होता है। इसलिए विषम परिस्थिति में घबराएं नहीं और हमेशा अपने पति के कदम से कदम मिलाकर साथ दें क्योंकि शादी के बाद एक स्त्री का पति ही उसका सब कुछ होता है। पति नहीं तो सब कुछ बेकार है। इसलिए स्त्रियों को अपने पतियों का आदर-सम्मान करना चाहिए और उनकी सभी आज्ञाओं को मानना चाहिए।
4. स्त्री को अपने घर में हो रहे ऊंच-नीच या किसी अन्य तरह की बातों को किसी बाहरी व्यक्ति से कभी नहीं
साझा करना चाहिए। इससे घर का भेद दूसरे को पता चलेगा और दुश्मन इसका फायदा उठा सकते हैं। इसलिए कभी भी अपने घर की बातें किसी तीसरे को न बताएं।

loading...
Loading...

You may also like

मार्गशीर्ष मास में जरूर करें यह पाठ,

आप सभी को बता दें कि अगहन यानी