अब घर बैठे केवल 50 रुपये में बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

ड्राइविंग लाइसेंसड्राइविंग लाइसेंस

लखनऊ। अब आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आरटीओ ऑफिस के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। आप घर बैठे ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकेंगे। इसके लिए केवल 50 रुपये आपको खर्च करने होंगे। इस सेवा के शुरू होने के बाद आरटीओ ऑफिसों में व्याप्त घूसखोरी पर लगाम लग सकेगी। ऐसा इसलिए संभव हो सका, क्योंकि सारा प्रोसेस ऑनलाइन कर दिया गया है।

इस शहर से  शुरू होगी सेवा

देश की राजधानी दिल्ली में स्थित आरटीओ में सबसे पहले यह सेवा शुरू होने जा रही है। इस सेवा के शुरू होने के बाद अब लोगों को अपना ड्राइविंग लाइसेंस या फिर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कहीं दौड़-भाग नहीं करनी पड़ेगी। बस अपने घर में बैठकर इसका लाभ उठा सकेंगे।

ये भी पढ़ें :-इंडिगो की बम्पर सेल, टिकटों पर होगी 25 फीसदी तक की छूट 

बस हेल्पलाइन पर करनी होगी कॉल

रिपोर्ट के मुताबिक इस सेवा का लाभ लेने के लिए इच्छुक लोगों को एक हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करनी होगी और अपने डॉक्यूमेंट्स के लिए अप्लाई करना होगा। इसके बाद एक मोबाइल सहायक घर पर आएगा और फॉर्म भरवाने में मदद करेगा।

डिवाइस पर अपलोड होंगे डॉक्यूमेंट्स

मोबाइल सहायक अपने साथ में टैबलेट और मोबाइल स्कैनर लेकर के आएगा, जिसकी मदद से वो डॉक्यूमेंट्स को स्कैन करके अपलोड करेगा। इसके बाद ड्राइविंग टेस्ट देना होगा।

आरटीओ ऑफिस में देना होगा ड्राइविंग टेस्ट

हालांकि सभी आवेदकों को आरटीओ ऑफिस में ड्राइविंग टेस्ट देना होगा। बिना इसको पास किए किसी को भी ड्राइविंग लाइसेंस जारी नहीं होगा। टेस्ट लेने का समय रोजाना (छुट्टी के दिनों को छोड़कर के ) सुबह 8 से दोपहर 2 बजे के बीच होगा। टेस्ट देने के लिए लोगों को अपनी सुविधा के अनुसार तारीख और समय को चुनना होगा। टेस्ट को पास करने के बाद 15 दिन के भीतर डीएल को आवेदक के घर पर भेज दिया जाएगा।

अन्य शहरों में भी शुरू होगी सेवा

दिल्ली में प्रोजेक्ट के सफल होने के बाद इसे देश भर के अन्य आरटीओ दफ्तरों में भी लागू किया जाएगा, जिससे इसका लाभ अन्य लोगों को मिल सके और आरटीओ ऑफिसों में व्याप्त घूसखोरी पर लगाम लग सके। ऐसा इसलिए क्योंकि सारा प्रोसेस ऑनलाइन कर दिया गया है।

loading...

You may also like

राफेल डील पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति का चौंकाने वाला खुलासा, बुरी फंसी मोदी सरकार

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर मोदी सरकार