गुजरात में 5000 करोड़ का बैंक घोटाला, आरोपी संदेसरा बंधु देश छोड़कर फरार

संदेसरासंदेसरा बंधु

नई दिल्ली। देश में धोखाधड़ी के बाद देश छोड़कर भागने के मामले में अब आम हो गए हैं। पहले कारोबारी देश में धोखाधड़ी करते हैं और फिर देश छोड़कर भाग जाते हैं। ताजा मामला पीएम मोदी के गृह राज्य गुजरात का है। जहां पर ईडी जल्द ही संदेसरा बंधुओं के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत आरोप पत्र दायर करने वाला है। संदेसरा बंधु गुजरात स्थित दवा कंपनी के प्रमोटर हैं और कथित तौर पर 5000 करोड़ रुपये से ज्यादा के बैंक कर्ज धोखाधड़ी मामले में तलाश हैं। आशंका जतायी जा रही है कि आरोपी देश छोड़कर भाग गए हैं। इस मामले में अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

संदेसरा बंधुओं के खिलाफ इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की तैयारी

इस मामले में ईडी के अधिकारियों का कहना है कि केंद्रीय जांच एजेंसी दोनों संदेशरा बंधुओं और अन्य आरोपियों के खिलाफ आपराधिक शिकायत के आधार पर इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करवाने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि अभी वे कहां हैं। इसका उन्हें ठीक-ठीक पता नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मनी लॉन्ड्रिंग निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के तहत आरोप-पत्र अगले एक पखवाड़े के अंदर विशेष अदालत में दायर किये जाने की उम्मीद है।

ईडी ने इस मामले में अन्य आरोपियों के खिलाफ पूर्व में कुछ आरोप पत्र दायर किये थे. इन्हें अभियोजन शिकायत भी कहा जाता है। एजेंसी ने कहा कि उसने इस मामले में संदेसरा बंधुओं- चेतन जयंतीलाल संदेसरा और नितिन जयंतीलाल संदेसरा और उनकी वडोदरा स्थित कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक लिमिटेड और अन्य के खिलाफ पिछले साल अक्तूबर में पीएमएलए का केस दर्ज किया था। इससे दो दिन पहले ही सीबीआई ने 5,700 करोड़ रुपये की कथित बैंक धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार को लेकर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था।

पढ़ें:- पाक के पूर्व गृह मंत्री ने कहा- भारत के अगले प्रधानमंत्री बनने वाले हैं राहुल गांधी

सीबीआई की एफआईआर में क्या कहा गया

सीबीआई एफआईआर के मुताबिक स्टर्लिग बायोटेक ने आंध्रा बैंक की अगुवाई वाले बैंकों के संघ से 5,000 करोड़ रुपये का ऋण लिया था। जो बाद में गैर निष्पादित संपत्ति(एनपीए) बन गया। 31 दिसंबर, 2016 को कंपनी पर कुल बकाया 5,383 करोड़ रुपये था।

Loading...
loading...

You may also like

NDR REPORT : नयी लोकसभा में 475 सांसद करोड़पति

🔊 Listen This News नयी दिल्ली। एसोसिएशन ऑफ