पॉलिथीन पर लगा बैन, उत्तर प्रदेश में हजारों हुए बेरोज़गार

पॉलिथीन बैन
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पूरे प्रदेश में ही 15 जुलाई से पॉलिथीन बैन कर दी है। लखनऊ प्लास्टिक एसोसिएशन के मुताबिक उत्तर प्रदेश में हजारों फैक्ट्रियां मौजूद हैं, जो कि पॉलिथीन का उत्पादन भारी मात्रा में करती थीं लेकिन अब उनके बंद होने के साथ ही हजारों लोगों के सामने बेरोजगारी का संकट खड़ा हो गया है। एसोशिएशन के अध्यक्ष रवि जैन ने बताया कि शहर में अभी भी 50 माइक्रोन से मोटी पॉलिथीन बन रही है लेकिन सरकार के प्रतिबंध लगाने के बाद फैक्ट्रियों में लगभग 300 टन बना हुआ माल डंप पड़ा हुआ है।

पॉलिथीन बैन : इतनी फैक्ट्रियां को झेलना पड़ रहा घाटा 

लखनऊ में जहां वैध-अवैध की लगभग 100 फैक्ट्रियां काम कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर पूरे प्रदेश में इसकी संख्या हजारों में है, जिससे लगभग तीन हजार टन बनी पॉलिथीन फिलाल बनी हुई रखी है।

जैन का कहना है कि सबसे ज्यादा संशय इस बात पर हो रहा है कि सरकार तो सभी तरह के पॉलिथीन को प्रतिबंधित करने की बात कर रही है। पर ऐसा हुआ तो पूरे प्रदेश भर में पॉलिथीन बना रही हजारों फैक्ट्रियां एकदम बंद हो जाएंगी।

यह भी ज़रूर पढ़ें: अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ देखना किया शुरू

इतने कर्मचारी होगें बेरोजगार 

इसके साथ ही लखनऊ में ही 50,000 के आसपास फैक्ट्री में काम कर रहे कर्मचारी भी बेरोजगार हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि बिस्कुट, दालमोट, रेवड़ी,  ब्रेड,  मेहंदी, चाय की पत्ती समेत कई ऐसी चीजें हैं, जिनको छोटे कारोबारी भी प्लास्टिक में पैक करके बेचते हैं।

इसके कारण इनके कारोबार पर भी गहरा असर पड़ेगा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *