महाराष्ट्र में किसानों ने किया प्रदर्शन, देश के अलग-अलग इलाकों में बह रहा दूध

- in ख़ास खबर, राष्ट्रीय
महाराष्ट्रमहाराष्ट्र

मुंबई। मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई शहरों में दूध की भारी कमी का सामना करना पड़ सकता है। किसान संगठनों ने ढूध की कीमतें बढ़ाने की मांग को लेकर दूध की आपूर्ति पर एकदम रोक लगा दी है। विरोध जताने के लिए दूध को शहरों में न भेजते हुए सडक़ों पर बहाया जा रहा है।

पानी से भी सस्ता है दूध 

आंदोलन कर रहे संगठनों का ऐसा आरोप है कि राज्य सरकार ने उन्हें गाय के दूध पर 27 रुपये प्रति लीटर की कीमत देने का ऐलान किया है, परन्तु किसानों को मात्र 17 से 20 रुपये ही मिलते हैं, जबकि बाजार में यही दूध करीब 40 से 45 रुपये की कीमत पर बेचा जाता है। किसानों का ऐसा कहना है कि जब शहर में पानी तक 20 रुपये लीटर में बिक रहा है, तो किसानों को 1 लीटर दूध के लिये मात्र 17 रुपये मिलना उनके साथ एकदम नाइंसाफी है। किसानों को एक लीटर दूध पर करीब10 रुपये का नुकसान हो रहा है।

लोकसभा सांसद ने बताया ढूध का हाल 

लोकसभा सांसद राजू शेट्टी ने बताया कि किसान डेयरी में 17 रुपये प्रति लीटर दूध बेचते हैं। इसके प्रसंस्करण के बाद डेयरी इसे पाउच में पैक करते हैं और 42 रुपये प्रति लीटर न्यूनतम दर से बेचते हैं। कमाई में इस अंतर का लाभ किसान को नहीं मिलता है। उन्होंने कहा कि मांगों के लिए दबाव बनाना पड़ेगा क्योंकि राज्य सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए कोई मजबूत फैसला नहीं ले रही है।

आंदोलन पकड़ेगा तेज़ी 

अखिल भारतीय किसान सभा के अजीत नवाले ने कहा कि अगर राज्य सरकार ऊंची कीमतों पर दूध खरीदने में असफल रहा या डेयरी किसानों को विशेष सब्सिडी नहीं दी गई तो यह आंदोलन और तेज हो जाएगा। अहमदनगर जिले में सभी दूध संघों ने रविवार शाम से दूध का संकलन बंद कर दिया है। खबरों के मुताबिक प्रभात, एस. आर थोरात, राजहंस, कृष्णाई, पंचमहल आदि दूध संघों ने दूध संकलन रोक कर आंदोलन को समर्थन दिया है। इसी तरह कोल्हापुर में गोकुल दूध संघ ने रविवार से दूध संकलन भी बंद कर दिया है। सूत्रों के अनुसार दूध संकलित न करने से गोकुल को करीब पांच करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ेगा।

यह भी ज़रूर पढ़े:कांग्रेस के इस नेता ने मोदी पर कसा तंज, कहा, नहीं है ऐतिहासिक तथ्यों की जानकारी 

 

Loading...
loading...

You may also like

बीजेपी के पूर्व सांसद कांग्रेस में शामिल, पूर्णिया से लड़ सकते हैं चुनाव

🔊 Listen This News पटना।  बिहार के पूर्णिया