जम्मू कश्मीर में पहली इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन 12-14 अक्टूबर तक

जम्मू कश्मीर में पहली इन्वेस्टर्स समिटजम्मू कश्मीर में पहली इन्वेस्टर्स समिट
Loading...

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के प्रिंसिपल सेक्रेटेरी (वाणिज्य और उद्योग) एनके चौधरी ने कहा है कि 12-14 अक्टूबर से इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होगा। उन्होंने आगे कहा कि यह अब तक का पहला वैश्विक शिखर सम्मेलन होगा जो राज्य द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस शिखर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र 12 अक्टूबर को श्रीनगर में आयोजित किया जाएगा।

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद मोदी सरकार ने कहा था कि राज्य के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी

बता दें कि कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद मोदी सरकार ने कहा था कि राज्य के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। पीएम मोदी ने भी कहा था कि जम्मू कश्मीर अब विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा। इस इन्वेस्टर्स समिट से भी राज्य में निवेश बढ़ेगा और निवेश बढ़ने से रोजगार के अवसर भी बढेंगे। सोमवार को रिलायंस ग्रुप के मालिक मुकेश अंबानी ने भी राज्य में निवेश के संकेत देते हुए कहा था कि हम जल्द जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लिए नई घोषणाएं करेंगे।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी एसपी पाणि ने कहा कि राज्य में कोई भी बड़ा विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी एसपी पाणि ने कहा कि राज्य में कोई भी बड़ा विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ, छोटे प्रदर्शन में दो लोग घायल हुए हैं। गौरतलब है कि दावा किया जा रहा है कि कश्मीर में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया गया है जिसको दबाने के लिए गोलीबारी की गई। जिसके बाद से सियासत गर्म है।कुछ लोग जहां कश्मीर में हिंसा की बात कर रहे हैं जबकि सरकार और स्थानीय प्रशासन काी कहना है कि वहां पर पूरी तरह से शांति है और लोगों ने आज ईद भी खुशी-खुशी मनाई है।

मालूम हो कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छे 370 के विशेष प्रावधानों सरकार द्वारा खत्म किए जाने के बाद से ही सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए कर्फ्यू लगा हुआ है। हालांकि वहां स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। ईद के मौके पर कर्फ्यू में ढील भी दी गई थी।

Loading...
loading...

You may also like

तिहाड़ में यासीन मलिक और बिट्टा जी रहे हैं नरक की जिंदगी

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर