पहले महिला संग किया गैंगरेप, फिर मंदिर के हवनकुंड में जिंदा जलाया

- in क्राइम, राष्ट्रीय
गैंगरेपगैंगरेप

 संभल। देश में महिलाओं के साथ होते बलात्कार और यौनशोषण की घटनायें रुकने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन महिलाओं से दरिन्दिगी के मामले सामने आ रहे है। हर रोज महिलाएं इस प्रकार के आपराधों का शिकार हो रही है और अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहे है। इसी प्रकार की एक घटना सामने आई है। दरअसल, उत्तर प्रदेश के संभल इलाके की 35 साल की महिला के साथ गैंगरेप किया गया। उसके बाद पीडिता को उसके घर के पास स्थित मंदिर के हवनकुंड में जिंदा जला दिया। इसमें 5 लोगों पर आरोप लगाया जा रहा है। हैरानी की बात ये है की इस मामले में अब तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

 100 नंबर पर कॉल करने  पर भी मौके पर नहीं पहुंची पुलिस 

महिला के पति का पुलिस पर आरोप लगाया है कि पीड़ित ने खुद को जिंदा जलाए जाने से कुछ मिनट पहले 100 नंबर पर कॉल किया था, लेकिन उसके कॉल का कोई जवाब नहीं मिला और न ही पुलिस मौके पर पहुंची। पीड़िता के परिवार वालों ने पांच लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई है। पुलिस का कहना है कि शनिवार को तड़के महिला अपने घर में सोई हुई थी, जब बदमाश उसके घर में घुस आए।

गैंगरेप

 ये भी पढ़े : दिल्ली साकेत कोर्ट: महिला वकील के साथ चेंबर में हुआ रेप, आरोपी गिरफ्तार 

चचेरे भाई को फोन कर बताई आपबीती 

जानकारी के अनुसार जब पीड़िता सो रही थी तभी बदमाश उसे उठाकर पास के मंदिर में ले गए और उसके साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। पुलिस जहां अभी महिला के साथ गैंगरेप की पुष्टि नहीं कर रही, वहीं पीड़िता के पति का आरोप है कि बीती रात पांच बदमाश उसके घर में जबरन घुस उसकी पत्नी के साथ गैंगरेप किया। बता दें की इसके बाद पीड़िता ने अपने चचेरे भाई को भी फोन कर अपनी आपबीती सुनाई। पीड़िता और उसके चचेरे भाई के बीच हुई बातचीत का ऑडियो क्लिप भी अब सामने आ गया है, जिसमें पीड़िता अपने साथ रेप की बात बता रही है।

रेप के सबूत नष्ट करने के  लिए महिला को हवनकुंड में  जिंदा जलाया 

गैंगरेप

इस बीच पुलिस या पीड़िता का चचेरा भाई मदद के लिए कुछ करते उससे पहले ही बदमाश फिर से घर में दाखिल हुए और महिला को घसीटते हुए मंदिर में ले गए। गैंगरेप के सबूत नष्ट करने के मकसद से बदमाशों ने मंदिर में बने हवनकुंड में महिला को जिंदा जलाकर मार डाला। मौजूदा जानकारी के अनुसार अभियुक्तों की पहचान आराम सिंह, महावीर, चरण सिंह, गुल्लू और कुमरपाल के रूप में हुई है। पाचों आरोपी भी उसी गांव से हैं, जिसमें महिला रहती थी और आरोप है कि वे बीते कुछ महीनों से महिला को परेशान भी कर रहे थे।’

Loading...
loading...

You may also like

CSIR-CIMAP में नेशनल कांफ्रेंस ऑन मिंट: प्रास्पेक्ट, चैलेंज और थ्रेट्स पर

लखनऊ। CSIR-CIMAP अपने डॉयमंड जुबली वर्ष में रविवार