मिलिट्री डॉक्टर से बेटी के एमबीबीएस दाखिले के नाम पर पांच लाख की ठगी

- in इलाहाबाद, क्राइम

इलाहाबाद। एमबीबीएस में दाखिला के नाम पर शातिरों ने मिलिट्री अस्पताल के एक डॉक्टर से पांच लाख रुपये ठगे। पत्नी के साथ बेटी को दाखिला दिलाने सिक्किम पहुंचे डॉक्टर को धोखाधड़ी की जानकारी हुई। उनका आरोप है कि उनके साथ वहां कोई अनहोनी हो सकती थी। जिस वजह से वह वहां से सीधे इलाहाबाद लौटे और कैंट पुलिस को जानकारी दी। कैंट पुलिस ने शनिवार को तीन आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी व अमानत में खयानत की एफआईआर दर्ज की।

कैंट पुलिस के अनुसार न्यू कैंट स्थित मिलिट्री अस्पताल में लेफ्टीनेंट कर्नल एमके पांडेय बतौर डॉक्टर तैनात हैं। उनका कहना है कि अस्पताल की महिला डॉक्टर शालिनी वासुदेवा ने बताया था कि सिक्किम मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एसएमआईएमएस) कॉलेज के डीन रिटायर्ड एयर मार्शल जीएस जुनेजा उनके करीबी हैं। उन्होंने कॉलकर बताया कि कॉलेज में एमबीबीएस की एक सीट खाली है। एक बच्चे का दाखिला कराना हो तो बताओ, पर उन्होंने मना कर दिया। अगर वह बेटी का दाखिला कराना चाहते तो वह करा सकती है। डॉ. एमके पांडेय ने अपनी बेटी के दाखिल के लिए हामी भर दी और बातचीत कर बेटी को लेकर पत्नी संग बागडोगरा एयरपोर्ट पहुंचे।

डॉ. एमके पांडेय का कहना है कि एयरपोर्ट पहुंचने के बाद कॉलेज के डीन की ओर से उन्हें टैक्सी से गंगटोक स्थित एक होटल में ठहराया गया। वहां पर लगातार रिटायर्ड एयर मार्शल से बात होती रही। इस बीच बेटी के दाखिले के लिए धीरे-धीरे अकाउंट के जरिए पांच लाख रुपये लिए। जब बेटी का दाखिला एमबीबीएस नहीं हुआ तो उन्हें लगने लगा कि कुछ गड़बड़ है। उन्होंने डॉ. शालिनी वासुदेवा से संपर्क किया तो कुछ देर बाद फिर रिटायर एयर मार्शल ने कॉलकर होटल में मिलने के लिए आने की बात कही। वह किसी तरह होटल से निकले और कॉलेज पहुंचे। वहां पता चला कि सारे एमबीबीएस दाखिल हो चुके हैं, एक भी सीट यहां खाली नहीं है। वह कॉलेज के डीन रिटायर्ड एयर मार्शल से मिले।

पढे: – मेडिकल कॉलेज में दाखिले के नाम पर जालसाजों ने ठगे 31 लाख रुपये 

डॉक्टर एमके पांडेय ने पुलिस को बताया कि कॉलेज के डीन ने बताया कि उन्होंने न तो कभी उन्हें कॉल की और न ही कॉलेज में एमबीबीएस दाखिले की बात उनकी किसी से हुई है। डीन ने बताया कि 2001 से पासआउट स्टूडेंट सुमंत गुप्ता सिलीगुड़ी का रहने वाला है। वही इस तरह का फ्राड कर रहा है। डीन ने फ्राड व सुमंत से संबंधित दस्तावेज व वीडियो रिकार्डिंग भी दिखाई। उसके बाद वह बेटी व पत्नी के साथ लौट आए।

कैंट पुलिस का कहना है कि डॉ. एमके पांडेय का आरोप है कि एयरपोर्ट से टैक्सी से ले जाना। अपने मन मुताबिक होटल में ठहराना। न टैक्सी का किराया और न ही होटल का बिल लेना। यहां तक कि होटल छोड़ते समय होटल में रुकने का दबाव बनाना। इससे लग रहा था कि उन्हें अपहरण करने की योजना बनी है। डॉ. एमके पांडेय का कहना है कि कॉलेज प्रशासन सबकुछ जानता है तो अभी तक उसने एक्शन क्यों नहीं लिया, यह समझ में नहीं आया। कैंट इंस्पेक्टर रमेश सिंह रावत ने बताया कि महिला डॉक्टर शालिनी वासुदेवा, जीए जुनैजा व सुमंत गुप्ता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जाएगी।

loading...
Loading...

You may also like

भगवान हनुमान और अम्बेडकर प्रतिमा हटाये जाने पर ग्रामीण हुए उग्र

लखनऊ। माल इलाके में बिना परमीशन के पंचायत