कूल लुक के लिए आप भी लगाते हैं दिनभर हैडफ़ोन तो जान लें इन खतरों के बारे में

- in स्वास्थ्य
Loading...

ईयरफोन या हैडफ़ोन ऐसी चीज़ आ गयी है जिससे आप अनचाही आवाजों से छुटकारा पा सकते हैं. कई बार हैडफ़ोन के घंटों इस्तेमाल में आप इस बात को भूल जाते हैं कि ये आपके कानों के साथ-साथ शरीर को भी नुकसान पहुंचा सकता है. लोग फैशन स्टाइल के लिए अक्सर इसका इस्तेमाल करते हैं लेकिन इसका असर शरीर पर क्या पड़ता है इसके बारे में आप नहीं जानते या फिर आप ध्यान नहीं देते. ईयरफोन या हेडफोन, जिसके अधिक इस्तेमाल से कान के साथ-साथ शरीर को भी समस्याओं को सामना करना पड़ सकता है. आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं.

कम सुनाई देना या बहरापन
ईयरफोन और हेडफोन से लगातार अधिक आवाज में म्यूजिक सुनने से सबसे पहले आपके कानों पर असर होता है. कानों की सुनने की क्षमता महज 90 डेसिबल होती है जो लगातार सुनने से धीरे-धीरे 40 से 50  डेसिबल तक कम हो जाती है. जिससे दूर की आवाज सुनाई नहीं देती हैं. जिसकी वजह से बहरेपन की शिकायत होने लगती है. इसलिए आपको कभी भी 90 डेसीबस से अधिक आवाज में गाने सुनने से बचना चाहिए.

दिल की बीमारी और कैंसर का खतरा 
तेज आवाज में संगीत सुनना कानों के साथ-साथ दिल के लिए भी अच्‍छा नहीं होता है. जी हां तेज अवाज में गाने सुनने से हार्ट बीट तेज हो जाती है और वह नार्मल स्पीड से तेज चलने लगती है. इससे दिल को नुकसान हो सकता है. इसके अलावा यह कैंसर को भी दावत दे सकता है. जी हां तेज आवाज में ईयरफोन से गाने सुनने पर कान को नुकसान तो पहुंचता ही है, इनके साथ आप के अंदरुनी हेल्थ पर भी इसका बुरा असर पड़ता है.

सिर दर्द या नींद न आने की समस्‍या
हेडफोन और ईयरफोन से निकलने वाली विद्युत चुंबकीय तरंगों से ब्रेन पर बुरा प्रभाव पड़ता है. जिससे आपके ब्रेन पर सीधा असर पड़ता है. यहीं वजह है कि ईयरफोन के अधिक प्रयोग से आपको सिर दर्द या नींद न आने वाली जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

Loading...
loading...

You may also like

घात लगाए बैठे भालू ने व्यक्ति पर किया हमला, पड़े गहरे जख्म

Loading... 🔊 Listen This News उत्तराखंड। आज बुधवार