ख़ास खबरखेलराष्ट्रीय

पूर्व पाक क्रिकेटर ने बताई सचिन तेंदुलकर की कमजोरी

नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को लेकर पिछले कई सालों से तुलना की जा रही है। कोहली की निरंतरता और जिस दर से उन्होंने रन बनाए हैं, उसने कई विशेषज्ञों, प्रशंसकों और पूर्व खिलाड़ियों को प्रभावित किया है।

विराट कोहली की इस निरंतरता और उनके खेल को देखते हुए बहुत से दिग्गजों का मानना है कि वह सचिन तेंदुलकर के कइ रिकॉर्ड्स को तोड़ देंगे। पूर्व पाकिस्तानी लीजेंड सरफराज की राय भी विराट कोहली को लेकर कुछ ऐसी ही है। उनका मानना है कि विराट कोहली रिकॉर्ड्स के मामले में सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ देंगे।

सरफराज नवाज ने इंडियन एक्सप्रेस के साथ एक इंटरव्यू में उन्होंने सचिन तेंदुलकर की एक कमजोरी के बारे में बताया, जो विराट कोहली की नहीं है। उन्होंने सचिन की इसी कमी को आधार बताते हुए कहा कि विराट कोहली उनसे आगे निकल जाएंगे।

इनस्विंग खेलने में कमजोर थे सचिन तेंदुलकर

उन्होंने कहा, ”इसमें कोई शक नहीं, विराट कोहली तुलना से कहीं परे हैं। वह हर फॉर्मैट में सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ देंगे। सचिन इनस्विंग के खिलाफ कमजोर थे, लेकिन विराट की बल्लेबाजी में शायद ही कुछ कमियां हों। अपने करियर की शुरुआत में वह आउट स्विंगर्स के खिलाफ थोड़ा कमजोर थे, लेकिन अब वह बल्लेबाजी के शिखर पर पहुंच गए हैं।”

विराट ने आउट स्विंग गेंदों पर किया काफी काम

बता दें कि एक वक्त था, जब विराट कोहली को आउट स्विंग गेंदों को खेलने में परेशानी होती थी। खासकर रेड बॉल क्रिकेट में। पिछले कुछ सालों में 31 साल के कोहली ने अपनी कमजोरियों पर काफी काम किया है। अब वह टेस्ट क्रिकेट के भी ज्यादा प्रभावशाली बल्लेबाज बन गए हैं। कोहली की बल्लेबाजी को देखकर उन्हें आधुनिक युग का सबसे संपूर्ण बल्लेबाज कहा जाने लगा है।

वहीं, जब बात सचिन तेंदुलकर की आती है तो कुछ लोगों का मानना है कि जब इनस्विंग डिलिवरीज को खेलना होता था तो वह उतने अच्छे नहीं थे। इस सबके बावजूद यह फैक्ट है कि उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 34,000 से ज्यादा रन बनाए हैं। वह इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

हालांकि विराट कोहली पिछले कुछ सालों में सचिन तेंदुलकर के कई रिकॉर्ड्स को पहले ही तोड़ चुके हैं। अगले कुछ सालों में यह भी पता चल जाएगा कि क्या वह सचिन तेंदुलकर के इंटरनेशल रनों और 100 शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ पाते हैं या नहीं।

loading...
Loading...