ग्वालियर में गणपति विसर्जन के दौरान हुई 4 किशोरों की मौत

ganpati visharjan

ग्वालियर: महाराजपुरा गांव से आधा किलोमीटर दूर एक निजी विश्वविद्यालय के पीछे बने बारिश के पानी के गड्ढे में गणपति विसर्जन के लिए उतरे 4 नाबालिक की मौत हो गई। मृतकों में दो सगे भाई और एक उनके ताऊ का लड़का शामिल है। किशोरों को बचाने के लिए गड्ढे में उतरे गांव के ही दो लोगों को ग्रामीणों ने किसी तरह उनको बचाया ।

ये भी पढ़ें:मायावती की मूर्ति तोड़ने वाला मुस्लिम मजदूर के हत्यारोपी को लड़वायेगा चुनाव 

ग्वालियर-भिंड हाइवे पर बसे महाराजपुरा गांव के ही माता मंदिर से किशोर गुरुवार शाम करीब 4 बजे लोडिंग वाहन से गणेश प्रतिमा को विसर्जित करने के लिए ले गए थे। इस साल गड्ढे में पानी अधिक भरा था जिसका इनको बिलकुल भी अनुमान नही था । किशोर प्रतिमा को हाथ में उठाकर पानी में उतरे।

विसर्जन के लिए उतरे पानी में ये किशोर:

अजय (14) पुत्र कल्याण बघेल व सतीश (13) पुत्र शिशुपाल बघेल प्रतिमा लिए हुए गहरे पानी में चले गये और अचा

नक प्रतिमा सहित गोते लगाने लगे। सतीश का भाई सूरज (17) व पड़ोस में रहने वाला शिवम (14) पुत्र दाताराम गौड़ भी उन्हें बचाने के लिए कूदे, लेकिन वे भी डूबने लगे क्योंकि गड्ढे में पानी बहुत ज्यादा भरा हुआ था ।

गाँव के दो लोगो ने की बचाने की कोशिश:

इनको बचाने के लिए गांव के ही दिलीप तोमर व मोनू नरवरिया भी कूद गए और गहरे पानी में फंस गए। ग्रामीणों ने दोनों को बेल्ट व साफी डालकर बचाया। लेकिन शायद देर काफी हो चुकी थी। ग्रामीणों ने आस पास के लोगों की मदद से चारों किशोरों को पानी से बाहर निकाला और अस्पताल में ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

loading...
Loading...

You may also like

कांग्रेस के अन्दर था इस बात का डर वरना सिंधिया के नाम पर लग सकती थी मुहर…

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश (MP) में सत्ता से दूर