कांग्रेस के बयान से मचा हडकंप, कहा- जरुरी नहीं कुमारस्वामी 5 सालों तक रहें सीएम

कुमारस्वामीकुमारस्वामी

बेंगलुरु। कर्नाटक में सीएम पद की शपथ लेने के बाद कुमार स्वामी को शुक्रवार को बहुमत साबित करना है। लेकिन इससे पहले कांग्रेस की तरफ से जारी के बयान से सनसनी मचा दी। दरअसल जेडीएस की सहयोगी पार्टी की भूमिका निभा रही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जी परमेश्वर का कहना है कि इस बात पर अभी तक अंतिम फैसला नहीं हुआ है कि कुमारस्वामी ही पांच सालों तक सीएम बने रहेंगे। साथ ही उन्होने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस के बीच कई मुद्दों पर पांच साल के करार की बात से इंकार किया है। उनका कहना है कि कई मुद्दों पर अभी भी फैसला होना बाकी है।

पढ़ें:- एचडी कुमारस्वामी का शपथग्रहण समारोह, तेजस्वी की इस हरकत ने जीत लिया दिग्गजों का दिल 

कुमारस्वामी के पांच साल तक सीएम रहने पर सस्पेंस

कर्नाटक में डिप्टी सीएम बनाए जाने के बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जी परमेश्वर के बयान ने दोनों ही पार्टियों के खेमे में हड़कंप मचा दिया है। जी परमेश्वर ने कुमारस्वामी पूरे पांच साल तक सीएम बने रहने के सवाल पर कहा कि उनकी पार्टी ने उन तौर-तरीकों पर अब तक चर्चा नहीं की है। उन्होंने कि अभी इस बात पर फैसला किया जाना भी बाकी है कि कौन से विभाग उन्हें दिए जाएंगे और कौन-सा हम लोगों के पास रहेगा। उन्हें पांच साल रहना चाहिए या सीएम पद हमें भी मिलेगा। इन तमाम विषयों पर हमने अब तक चर्चा नहीं की है। यह पूछे जाने पर कि क्या सीएम का पद जेडीएस को पूरे पांच साल के लिए देने को लेकर कांग्रेस संतुष्ट है तो परमेश्वर ने कहा कि चर्चा के बाद नफा और नुकसान को देखते हुए हम फैसला करेंगे-हमारा मुख्य ध्येय अच्छा प्रशासन देना है।

पढ़ें:-एचडी कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह में विपक्ष का शक्ति प्रदर्शन, BJP की बढ़ी टेंशन 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जी परमेश्वर की टिप्पणियां

डिप्टी सीएम बनाए जाने व विभागों के बंटवारे से सम्बंधित प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष परमेश्वर ने कहा कि किसी ने भी उनसे या कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से कोई पद नहीं मांगा है। उन्होंने कहा कि परमेश्वर केपीसीसी के भी अध्यक्ष हैं। उन्होंने इस बारे में सिर्फ मीडिया में खबरें देखी हैं। नेताओं के बीच किसी भी तरह के मतभेद से इंकार करते हुए उन्होंने कहा कि पद मांगने में कुछ भी गलत नहीं है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में कई नेता हैं जो डिप्टी सीएम या सीएम बनने में सक्षम हैं। यह कांग्रेस पार्टी की ताकत है। जब हम गठबंधन सरकार में हैं तो इस बात का फैसला कांग्रेस आला कमान को करना है कि इस स्थिति में किसे कौन-सा पद दिया जाए। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डी.के. शिवकुमार के नाखुश होने को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि सभी विधायक साथ हैं और हम शक्ति परीक्षण में सफल होंगे। उन्होंने कुछ क्षेत्रों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के लिये ईवीएम को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि वह इस बात की शिकायत नहीं कर रहे हैं कि सभी 222 विधानसभा क्षेत्रों में ईवीएम में छेड़छाड़ हुई।

loading...
Loading...

You may also like

संपूर्ण समाधान दिवस पर आईं 203 शिकायतें, तीन का मौके पर निस्तारण

लखनऊ। मोहनलालगंज तहसील में मगंलवार को आयोजित संपूर्ण