गौरी लंकेश हत्याकांड की बड़ी सफलता, गोली चलाने वाला शख्स हिरासत में

गौरी लंकेशगौरी लंकेश

बेंगलुरु। वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रही विशेष जांच दल को बड़ी सफलता हाथ लगी है।  पुलिस ने गौरी लंकेश को गोली मारने वाले शख्स को गिरफ्तार कर लिया है।  उसका नाम परशुराम वाघमारे बाते जा रहा है।  उसे मंगलवार को कर्नाटक के बीजापुर जिले से पकड़ा गया है। पुलिस ने बताया कि CCTV फुटेज के आधार पर हत्यारे की पहचान हुई। गौरी लंकेश केस में यह चौथी गिरफ्तारी है।

 जाचं अधिकारी ने परशुराम को किया गिरफ्तार

परशुराम की हत्याकांड में भूमिका और अन्य जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई है।

गौरी लंकेश

उसकी पूछताछ अभी जरी है। पर सूत्रों के अनुसार परशुराम ने ही पत्रकार गौरी की हत्या की है।  सीसीटीवी फुटेज में कातिल की लम्बाई 5। 1 बताई गई थी।  जाचं अधिकारी ने इसी आधार पर परशुराम को गिरफ्तार किया है।

दुसरे आरोपी का कोई पता नहीं चल पाया 

मामले की जांच कर रही विशेष जाचं दल के सूत्रों ने बताया कि परशुराम एक अन्य आरोपी के साथ बाइक पर आया था। परशुराम बाइक चला रहा था और उसी ने गौरी लंकेश पर गोली चलाई। दुसरे आरोपी का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है।

ये भी पढ़े : सलमान देंगे ईद पर फैन्स को दोहरा तोहफा, ‘रेस 3 ’संग होगा ‘लवरात्रि’ का टीज़र रिलीज़ 

गौरी लंकेश हत्याकांड में आई फॉरेंसिक लैब रिपोर्ट ने एक बहुत बड़ा खुलासा किया है। फॉरेंसिक लैब रिपोर्ट के मुताबिक कर्नाटक के ही प्रख्यात तर्कवादी और लेखक एमएम कलबुर्गी की हत्या के लिए उसी बन्दूक का इस्तेमाल किया गया था जिससे गौरी को  हत्या हुई थी।

केटी नवीन कुमार हत्याकांड के  मुख्य आरोपी

बता दें कि गोरी लंकेश की हत्या 5 सितम्बर को देर रात हुई थी। उसके बाद 30 मई को कर्नाटक में पुलिस ने मर्डर केस की  चार्जशीट दाखिल कर दी है, जिसमें पुलिस भी इस नतीजे पर पहुंची है कि हिंदू धर्म की आलोचना के चलते ही गौरी लंकेश की हत्या की गई थी। चार्जशीट में केटी नवीन कुमार को मुख्य आरोपी बनाया गया है।  600 पेज की इस चार्जशीट के 110 पेज सार्वजनिक नहीं किए गए हैं।  जानकारी के मुताबिक, 110 पेज में ही गौरी लंकेश की हत्या की वजहों और साज़िसो की जानकारी है।  साथ ही मुख्य आरोपी नवीन कुमार के बयान को भी सार्वजनिक नहीं किया गया है।

गौरी लंकेश

गौरी लंकेश ने की थी हिन्दू धर्म की तीखी आलोचना

मौजूदा जानकारी के अनुसार चार्जशीट के जिन पृष्ठों को सार्वजनिक नहीं किया गया है उसमे कहा गया है कि आरोपी गौरी लंकेश द्वारा प्रकाशित साप्ताहिक टेब्लॉयड में हिन्दू धर्म की तीखी आलोचना करने, हिंदू देवी-देवताओं और हिंदू धर्म की बुराई किए जाने से नाराज थे  और इसी कारण उनकी हत्या की गई।

इसके आलावा चार्जशीट में सबसे अहम खुलासा ये हुआ है कि नवीन कुमार गौरी लंकेश की हत्या की साजिश में शामिल था और हत्या की पूरी साजिश बेंगलुरु के विजयनगर में स्थित बीबीएमपी पार्क में बैठकर रची गई थी।

loading...
Loading...

You may also like

बलिया: दीवानी कोर्ट के दो न्यायालयों में तड़के लगी आग, चौकीदार निलंबित

बलिया। जिला बलिया स्थित ‘दीवानी कोर्ट’ परिसर के