महाप्रबंधक डीपी शुक्ला का अनाज घोटाले में हुआ तबादला, जाने पूरी बात

महाप्रबंधक रहे डीपी शुक्ला का अनाज घोटाले में हुआ तबादला
Loading...

नोएडा। उत्तर प्रदेश भारतीय खाद्य निगम (FCI) के महाप्रबंधक रहे डीपी शुक्ला का तबादला इस लिए कर दिया गया क्यो कि खरीदा गया 1 लाख 63 हजार 620 क्विंटल अनाज गुणवत्ता जांच के मापदंडो पे खरा नहीं उतरा। इस अनाज कीमत लगभग 33 करोड़ रुपये बताई जा रही है। दरअसल डीपी शुक्ला के पास उत्तर प्रदेश क्वालिटी कंट्रोल महाप्रबंधक का चार्ज था। और प्रदेश में अनाज खरीद की गुणवत्ता जांच की पूरी जिम्मेदारी डीपी शुक्ला के पास ही थी। अब इन्हें पर्सनल डिविजन में भेज दिया गया है।

ये भी पढ़े:- सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा आतंकवाद और बातें एक साथ कभी नहीं चलतीं 

पिछले सप्ताह ही उत्तर प्रदेश में भारतीय खाद्य निगम (FCI) की ओर से वर्ष 2018 में खरीदे गए गेहूं और चावल में बड़े पैमाने पर हुई गड़बड़ी को लेकर हुई प्रारंभिक जांच में महकमे के मैनेजर व उसके निचले स्तर के प्रदेशभर के 10 अधिकारी दोषी पाए गया थे। जिसके चलते सभी को चार्जशीट सौंप दी गई और इतनी बड़ी संख्या में ख़राब अनाज की खरीद में शामिल अधिकारियों को नोटिस भेज दिया गया है।

ये भी पढ़े:- अयोध्या मामले की संविधान पीठ से क्यों हटे जस्टिस यूयू ललित, जानें पूरी बात 

जांच में गड़बड़ी सामने आने के बाद केंद्रीय खाद्य एवं आपूर्ति मंत्रालय की तरफ से जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए जा चूके हैं। इस पर भारतीय खाद्य निगम के दिल्ली मुख्यालय ने उत्तर प्रदेश का मामला होने के कारण नोएडा सेक्टर-24 स्थित भारतीय खाद्य निगम (उत्तर अंचल) के कार्यकारी निदेशक को कार्रवाई करने के लिए लिखा था। 500 में 100 नमूने जांच में हुए फेल।

Loading...
loading...

You may also like

श्रीलंका सैलानियों के लिए है पूरी तरह से सुरक्षित : जैकलिन

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। ‘मिस