Google में यौन उत्पीड़न: कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, सीईओ सुंदर पिचई बोले, मैं अभी भी बॉस हूं

- in Tech/Gadgets

दुनिया की दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी गूगल के 200 से अधिक कर्मचारी ने हाल में सामने आए यौन उत्पीड़न के मामलों को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया. बीते एक नवंबर को गूगल के कर्मचारियों ने वैश्विक स्तर पर वॉकआउट किया. यह प्रदर्शन यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे ‘फादर ऑफ एंड्रॉयड’ कहे जाने वाले एंडी रुबिन को गूगल द्वारा बचाए जाने के विरोध में किया गया. यह प्रदर्शन ऐसे वक्त में हुआ जब कुछ ही दिनों पहले इस बात का खुलासा हुआ है कि गूगल द्वारा बीते दो साल के भीतर 48 लोगों को यौन उत्पीड़न के आरोपों को लेकर कंपनी से निकाला गया. 

उधर, विरोध-प्रदर्शन के बीच गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने एक कॉन्फ्रेंस में कहा कि कंपनी के कर्मचारियों द्वारा किए गए विरोध के कुछ सकारातमक पहलू हैं लेकिन वह अभी भी इंचार्ज हैं और कर्मचारियों के विरोध के आगे नहीं झुकेंगे. पिचई ने कहा, ” “हम रिफ़रेंडम से कंपनी नहीं चलाते.” उन्होंने आगे कहा, “गूगल में, हमने बहुत ही ऊंचे मापदंड स्थापित किए हैं. यौन उत्पीड़न सामाजिक समस्या है…हम निश्चित रूप से अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं.”

एंडी रुबिन ने एक्जिट पैकेज के आरोप नकारे
उधर,  एंडी रुबिन ने एक्जिट पैकेज के आरोपों से इनकार किया है. रुबिन के प्रवक्ता सैम सिंगर ने कहा कि रुबिन ने प्लेग्राउंड नामक एक उद्यम शुरू करने के लिए 2014 में एप्पल को छोड़ने का फैसला किया था. इससे पहले, सुंदर पिचई ने अपने कर्मचारियों के नाम लिखे एक पत्र में कहा कि प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी ने अनुचित आचरण के कारण अपने कर्मचारियों के खिलाफ यह कठोर कदम उठाया है. पिचई ने यह पत्र ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ की एक रिपोर्ट के जवाब में लिखा, जिसमें कहा गया था कि एंड्रॉयड निर्माता एंडी रुबिन को उन पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों के बदले नौ करोड़ डॉलर का एक्जिट पैकेज देकर विदा किया गया था. 

loading...
Loading...

You may also like

सेल का आज तीसरा दिन, APPLE के आधे दर्जन IPHONE पर हजारों रु की छूट

फ्लिपकार्ट पर जारी Flipkart Mobiles Bonanza सेल सफलतापुर्वक