सरकार का बड़ा एलान, अब नहीं बढ़ेंगे गैस सिलेंडर के दाम

सरकारसरकार

नईदिल्ली। रसोई गैस सिलेंडर के दामों की बढ़ोत्तरी से परेशान लोगों को सरकार की ओर से नये साल पर बड़ी राहत मिल सकती है। दरअसल रसोई गैस सिलेंडर के हर महीने 4 रुपये बढ़ने के फैसले को सरकार वापस लेने वाली है।

ये भी पढ़ें:दिल्ली शर्मसार: भोजपुरी गानों में काम कर चुकी मॉडल से गैंगरेप 

सरकार का बड़ा एलान, अब नहीं बढ़ेंगे गैस सिलेंडर के दाम

  • सरकार ने सभी मार्केटिंग कंपनियों को जून, 2016 से एलपीजी सिलेंडर में हर महीने चार रुपए की बढ़ोतरी का निर्देश दिया था।
  • इसके पीछे का मुख्य मकसद गैस पर दी जाने वाली सब्सिडी को पूरी तरह समाप्त करना था।
  • उपभोक्ताओं की जेब पर पेट्रोलियम कंपनियां चुपके से बोझ बढ़ा रही हैं।
  • सब्सिडी की घटती-बढ़ती दरें उपभोक्ता के लिए एक पहेली सी बनकर रह गई है।
  • एक साल में घरेलू रसोई गैस सिलिंडर के दाम 158 रुपये तक बढ़ गए हैं।
  • पिछले साल दिसंबर में रसोई गैस का दाम 646 रुपये था।
  • इस दिसंबर में सिलेंडर की कीमत 804 रुपये तक पहुंच गए है।

17 महीनों में 19 बार बढ़े दाम

  • जून 2016 से अब तक महज 17 महीनों में एलपीजी गैस के दाम 19 बार बढे हैं।
  • वहीँ दूसरी ओर सब्सिडी सम्बंधित जानकारियां आम जनता के समझ से परे हैं।
  • जो सब्सिडी मार्च 2017 में 45% तक आई, वो घटकर अगस्त 2017 में 17% तक पहुंच गई।
  • 583 रूपये वाले गैस सिलेंडर कि सब्सिडी 101रुपये आई थी।
  • दिसंबर माह में 804 रुपये वाले सिलेंडर कि सब्सिडी 304रुपये हीं आई थी।
  • ट्रॉलीमैन भी उपभोक्ताओं से 20 से 50 रुपये अतिरिक्त वसूलते हैं।
  • सब्सिडी वाला गैस सिलेंडर लेने वाले देश में करीब 18।11 करोड़ उपभोक्ता हैं।
  • इनमें 3 करोड़ वो गरीब महिलाएं शामिल हैं, जिनको उज्जवला स्कीम के तहत मुफ्त कनेक्शन मिला था।

अक्टूबर से नहीं बढ़े दाम

  • इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम व हिंदुस्तान पेट्रोलियम जुलाई 2016 से एलपीजी के दाम हर महीने की पहली तारीख को बढ़ाती आ रही है।
  • लेकिन, 1 अक्टूबर से तेल मार्केटिंग कंपनियों ने एलपीजी का दाम नहीं बढ़ाया है।
  • सरकार और कंपनियां अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही हैं कि मार्च 2018 तक सब्सिडी पूरी तरह से खत्म कर दी जाये।
Loading...
loading...

You may also like

केजरीवाल पर फिर बरसे कपिल मिश्रा, बोले- आइये मैं दिखाता हूं आप को आइना

🔊 Listen This News नई दिल्ली। आगामी लोकसभा