नव संवत्सर में बदल रही है ग्रहों की चाल, पूरा विश्व होगा खुशहाल

Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। जिस तरह से लोकसभा और विधान सभा का गठन होता है। ठीक उसी प्रकार सौर मंडल में भी ग्रहों का गठन होता है। नए वर्ष 2018 में ग्रहों की सत्ता में एक बार फिर बड़ा शुभकारी परिवर्तन होने जा रहा है। आकाशीय मंत्री मंडल के इस महापरिवर्तन में सूर्य के हाथ बड़ी जिम्मेदारी होगी। सूर्य राजा की भूमिका में होंगे तो वही उनके पुत्र शत्रु युवराज शनि मंत्री के रूप में काम करेंगे। 18 मार्च 2018 को इस परिवर्तन के बाद ग्रहों का प्रभाव शुरू हो जायेगा। ज्योतिष विद्वान नव संवत्सर पर बदल रहे ग्रहों की चाल को पूरे विश्व के लिए शुभ संकेत बता रहे है।

जय माँ वैष्णो देवी ज्योतिष तंत्र अनुसंधान एवं परामर्श केंद्र के ज्योतिषाचार्य/तांत्रिक आचार्य योगेश पांडेय ने बताया कि भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सम्बत सत्र को संचालित करने के लिए ग्रहों का एक मंत्री मंडलीय समिति गठित होता है। जिसमे कुल 10 पदाधिकारी होते है।ग्रहों का कार्यकाल एक साल का होता है, जो दैवीय होता है जिसे हम आप नही देख सकते है।

नए वर्ष 2018 में बदल रहे ग्रहों की चाल में 10 अधिकारियो में 6 अधिकारी शुभ ग्रह है। जबकि 4 विभागो के मंत्री पाप ग्रह संभाले है। ग्रह राज सूर्य को प्रधानमंत्री का पद प्राप्त हुवा है तो वही उनके पुत्र शनि को मंत्री पद मिला है।

आकाशीय मंत्री मंडल में बहुमत शुभ ग्रहों के पास होने से पृथ्वी पर सर्वत्र फसलों के अच्छे उत्पादन होंगे। किसान विशेषकर खुशहाल होंगे। ज्योतिष विद्वान आचार्य योगेश पांडेय ने बताया कि विरोधी कृत्य नांमक सम्बत्सर 2075 का शुभारंभ 18 मार्च 2018 से प्रारम्भ हो रहा है। इसी तिथि से नए हिन्दू वर्ष का शुभारंभ भी होगा।इस तिथि को चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के नाम से जाना जाता है।

भारतीय सनातनी धार्मिक व्योवस्था में विकर्मीय संवत को ही सर्वप्रधान माना जाता है।सम्बत 2075 का प्रवेश कन्या लग्न में हो रहा है। जो सर्व कल्याणकारी है।जिसका फल आम जनमानस के लिये काफी उत्तम है। स्थिर योग नामक इस महायोग में नए वर्ष की शुरुवात होने से हर तरफ खुशहाली विखरेगी। राजनैतिक स्थिरता दिखाई देगी तथा नए वर्ष में राजनीति में परिवर्तन के विशेष योग नही बन रहे है। नीच राशि का बुद्ध शासक वर्ग को अपने बड़ बोलने पर अंकुश लगाने के लिये बाध्य करेगा।भारत का देश के सभी देशो के साथ बहुत सुंदर सम्बन्ध दिखाई दे रहा है।

देश के भीतर अच्छे अच्छे योजनाओ का विस्तार होगा। महिलाओ को बहुत सम्मान मिलेगा।ग्रहों के आपसी ताल-मेल से इस वर्ष शनि-मंगल की युवती तथा राहु के साथ खड़ास्टक सबंध होने से भूकंप,भू-स्खलन आदि प्राकृतिक आपदा, मार्ग दुर्घटना की भीषण क्षति उठानी पड़ सकती है। इससे बचने के लिए सभी लोग जहाँ-तहां यग अनुष्ठान हवन कराते रहे।

Related posts:

बिना परमिशन के ही चल रहा था आम के हरे पेड़ पर आरा
मंदिर में दीपक जलाने गया था किशोर, गाँव के लोगों ने ही उसे जिन्दा जलाया
राहुल गांधी इन दो नेताओं भेजना चाह रहे थे राज्यसभा, कर्नाटक कांग्रेस ने ठुकराया प्रस्ताव
लखनऊ : कानपुर रोड पर पुलिस ने हटवाया अतिक्रमण...
हार से बौखला गयी बहन जी, वो बुआ का क्या होगा जो पिता-चाचा का नहीं हुआ : केशव प्रसाद
अपहरण में नाकाम महिला ने किशोर पर ब्लेड से किए कई वार
हनुमान जयंती पर जुलूस निकालने से ममता बनर्जी ने लगाया रोक
नरोदा पाटिया नरसंहार: हार्दिक पटेल बोले बाबू बजरंगी दोषी है तो कोडनानी कैसे हुई बरी?
शादी के लालच में दलित ने कबूला इस्लाम, बजरंग दल ने कर दी पिटाई
राजभर के आवास पर टमाटर-अंडे फेंकने वाली पूजा यादव ने खुद किया सरेंडर
केशव के जनेऊ पर बवाल, सपा ने कहा सियासी नौटंकी से ज़्यादा कुछ नहीं
यूपी एसटीएफ ने की 100 ड्रम रैक्टीफाइड स्प्रिट बरामद, एक गिरफ्तार

3 thoughts on “नव संवत्सर में बदल रही है ग्रहों की चाल, पूरा विश्व होगा खुशहाल”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *