गार्ड की नौकरी करने वाला खिलाड़ी खेल रहा है आईपीएल

आईपीएल
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली।2018 की नीलामी में जम्‍मू-कश्‍मीर के मंजूर डार का चुना जाना आतंकवाद प्रभावित कश्‍मीर घाटी के लिए एक बड़ी खुशखबरी कि बात है। मंजूर डार को किंग्स इलेवन पंजाब ने नीलामी के दौरान 20 लाख रूपए में खरीदा है। डार ने कुछ समय पहले  सैयद मुश्‍ताक अली T20 ट्रॉफी में खेला था।

आईपीएल में आने के लिया किया है संघर्ष 

मंजूर डार  ने  काफी संघर्ष और मेहनत के बाद क्रिकेट के खेल में पहचान बनाई। लीग में चुने जाने के बाद कश्‍मीर घाटी में खुशी की लहर चालू हो गयी थी। दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेले गए मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने मंसूर को नहीं खिलाया था।पर टीम उनको प्लेइंग इलेवन में लेने के बारे में सोच रही है।

गौरतलब है कि मंजूर का क्रिकेट सफर काफ़ी संघर्ष से भरपूर रहा है। मंजूर ने अपने शुरुआती संघर्ष के बारे में बताया कि, ‘मैंने वर्ष 2008 से 2012 तक गार्ड के तौर पर नाइट में ड्यूटी की, पर उन्होंने इस दौरान भी क्रिकेट खेलना जारी रखा और क्‍लब क्रिकेट में अच्‍छे प्रदर्शन किया जिसके कारण शोहरत ने उनके कदम चुम्मे। उस दौरान मंज़ूर का लक्ष्‍य ज्यादा से ज्यादा  मैच खेलना होता था क्‍योंकि इससे मुझे अधिक राशि मिलती थी। मंज़ूर ने बताया की, मुझे अच्‍छी तरह से याद है कि जब मैंने अपना पहला क्‍लब मैच खेला था, तो मेरे पास क्रिकेट शू  और बाकी क्रिकेट के साजो सामान भी नहीं था।’

यह पढना ना भूले:वेटलिफ्टिंग, शूटिंग के बाद अब टेबल टेनिस में भी भारत ने जीता स्वर्ण पदक 

Related posts:

युवराज के वकील ने कहा, घरेलू हिंसा की कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं
IND vs NZ: भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरा टी-20 मैच आज
NCRB रिपोर्ट: बीजेपी के राज में दलितों पर हुआ सबसे ज्यादा अत्याचार
जहां गये मोदी, वहां हारी बीजेपी
सेक्स रैकेट चलाने वाली सोनू पंजाबन को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार
प्रधानमंत्री बदलें अहमदाबाद का नाम : सुब्रमण्यम स्वामी
टेस्ट मैच में फेल हुए विराट तो शख्स ने खुद को लगाई आग
करणी सेना के गुंडों ने कार में लगाई आग, बाद में पता चला कि अपनी ही थी....
दिल्ली: मुस्लिम लड़की के परिवार वालों ने हिन्दू Boy Friend को उतारा मौत के घाट
दलित संगठनों ने खोला मोर्चा, एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ भारत बंद
इस वजह से नौकरी छोड़, आईआईटी के 50 पूर्व स्टूडेंट्स कूदे राजनीति में
World Press Freedom Day : मजबूत लोकतंत्र के लिए प्रेस की आजादी जरूरी - मोदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *