हैप्पी डॉटर्स डे: जानिये भारत में रविवार को ही क्यूँ मनाया जाता है ये दिन?

- in फैशन/शैली
हैप्पी डॉटर्स डे

लखनऊ। आज का दिन देश की बेटियों के लिए बेहद ख़ास दिन है, जीहां आज डॉटर्स डे है। दरअसल, यह दिन दुनियाभर में मनाया जाता है लेकिन अलग-अलग जगहों पर ये अलग-अलग महीने में मनाया जाता है। पर भारत में इस दिन को सितम्बर महीने के आखिरी रविवार को ही मनाया जाता जाता है। बहुत से लोग इस बात को नहीं जानते कि आखिर इस दिन की शुरुआत किस तरह हुई। आइये जानते हैं इस दिन से जुडी कुछ बहुत ही ख़ास बातें भले ही बेटियों को हमेशा बेटों के पीछे रखा जाता है लेकिन बेटियां किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। हर क्षेत्र में हैं वो तरक्की कर रही हैं। लेकिन आज भी कहीं-कहीं जगह का समाज आज भी बेटियों को कमज़ोर मानता है। इन सब बातों को देखते हुए ही कुछ देश की सरकारों ने मिलकर समानता को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया। जिससे लोग जागरूक हो और इस बात को समझे कि बेटे या बेटी दोनों सामान होते हैं यानी हर इंसान बराबर है। ये भी पढ़ें:-विदेश यात्रा पर जाने से पहले इन बातो का रखे ध्यान,नही होगी कोई समस्या 

ख़ास बात तो ये है कि भारत में डॉटर्स डे को मनाने के लिए रविवार का दिन सिर्फ इसलिए चुना गया क्योंकि भारत में रविवार के दिन हम सभी लोगों की अपने-अपने काम या स्कूल से छुट्टी होती है जिससे कि इस दिन माता पिता अपनी बेटियों के साथ अच्छे से टाइम स्पेंड कर पाएं और इस दिन को खास बनाएं।

ये भी पढ़ें:- इन तीन अक्षरों के नाम वाले लोग होते हैं कुछ इस तरह खास

वक्त के साथ धीरे धीरे लोगों की मानसिकता में बदलाव आ रहा है। लोगों के बीच धीरे-धीरे डॉटर्स डे मनाने का ट्रेंड बढ़ रहा है। सोशल-मीडिया पर भी इस दिन को जोरों-शोरों से मनाया जाता है।आज लोग बेटी के होने पर सेलिब्रेट करने लगे हैं। तो आप क्या सोच रहे हैं आप भी अब आज का दिन अपनी प्यारी लाड़ली बेटी के साथ सेलिब्रेट करें और उन्हें इस बात का एहसास कराएं कि आपके लिए वह कितनी महत्वपूर्ण है।

loading...
Loading...

You may also like

चमकदार बाल चाहिए तो जरूर करें ये 7 काम

हर कोई खूबसूरत बाल चाहता है लेकिन अधिकतर