लखनऊ: जिंदगी बचाने वाली एंबुलेंस ने ले ली 3 लोगों की जान

लखनऊ

लखनऊ। हरदोई कछौना बुधवार को गौसगंज कछौना मार्ग पर निजी नर्सिंग होम की एंबुलेंस वाहन से मोटरसाइकिल सवार की दुर्घटना में मोटरसाइकिल चालक, गर्भवती महिला, गर्भवती महिला की सास की दर्दनाक मृत्यु हो गयी। तीनों मोटरसाइकिल सवार व्यक्तियों की मृत्यु होने से पूरा गांव गमगीन हो गया। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। पूरे दिन गांव के घरों में चूल्हे नहीं जले। परिवार की हालत काफी दयनीय है। इस अनहोनी घटना से परिवार बिखर गया है।

ये भी पढ़ें:- अमिताभ ठाकुर ने लगाये आरोप, पुलिस मेरे साथ कर रही अन्याय 

छोटे मासूम बच्चों के ऊपर से पिता का छाया उठ गया। किसी ने मां खोयी, किसी ने बेटा, किसी ने पति, किसी ने पत्नी। इस दुर्घटना से पूरे गांव में दुख का मातम छाया रहा हैं। परिवार को ढांढस बंधाने के लिए क्षेत्रीय विधायक रामपाल वर्मा ने पीड़ित परिवार को हरसंभव सहायता दिलाने का आश्वासन दिया।बताते चलें बुधवार की सुबह निर्मल पुर निवासी जमील की बहू शूबी को प्रसव पीड़ा हुई। बहू पूरे 9 माह के गर्भ से थी। परिजनों ने स्वास्थ्य सेवा के लिए टोल फ्री नंबर 102 पर कॉल की, काफी प्रयास के बाद भी कोई रिस्पांस न मिल पाने पर वह लोग अपने चचेरे भतीजे सुलेमान पुत्र उमर (28) की मोटरसाइकिल से सास बहू को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कछौना जाने का कदम उठाया। क्योंकि प्रसव पीड़ा असहनीय हो रही थी।

इसी दौरान ग्राम बघौड़ा के पास कछौना तरफ से तेज गति से आ रही निजी नर्सिंग होम की एम्बुलेंस की चपेट में आ गए। तीनों सड़क पर तितर बितर हो गयी। रफतार इतनी तेज थी। सुलेमान की मौके पर मृत्यु हो गई। आनन फानन में ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन व एम्बुलेंस सहायता हेतु 108 पर कॉल की। ग्रामीणों ने ड्राइवर मोहम्मद इरशाद पुत्र नन्हे बाबा निवासी कछौना को पुलिस को सौंप दिया। गंभीर रूप से घायल सास, बहू को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कछौना निजी साधनों से लाया गया। जहां पर हालत गंभीर होने पर मौके पर मौजूद डॉक्टर ने जिला अस्पताल रिफर कर दिया। जहां पर भी स्थित नियंत्रण न होने की स्थिति में ट्रामा सेंटर लखनऊ रिफर कर दिया गया।

ये भी पढ़ें:- सब्जी विक्रेता की पिटाई से हुई मौत के तीसरे दिन भी पुलिस ख़ाली हाथ 

लखनऊ जाते समय रास्ते में ही गर्भवती महिला शीबू की मृत्यु हो गई। देर रात में ट्रामा कॉलेज लखनऊ में सास बानो उर्फ जमीला की भी मृत्यु हो गई। परिवार पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा। गांव में कोहराम मच गया। इस घटना को लेकर ग्रामीणों में काफी गुस्सा था। प्रशासन कोई अनहोनी घटना की आशंका पर उपजिलाधिकारी सण्डीला उदय भान सिंह गुरुवार की सुबह गांव निर्मल पुर पहुँचकर परिजनों को इस दुःख की घड़ी में ढांढस बंधाया व पीड़ित परिजनों को मुख्यमंत्री दुर्घटना योजना के तहत आर्थिक लाभ दिलाने की बात कहीं। पूरे दिन प्रशासन मुस्तैद रहा। क्षेत्राधिकारी बघौली अखिलेश राजन के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस पल-पल की ख़बर पर नजर बनाए रखी। परिजनों की तहरीर पर वाहन चालक के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

ये भी पढ़ें:- सर्राफा व्यापारी को गोली मारने वाला ठेकेदार गिरफ्तार, तमंचे बरामद 

इस घटना की खबर पर क्षेत्रीय विधायक रामपाल वर्मा ने गांव पहुँचकर पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। इस दुख की घड़ी में सदैव साथ रहने की बात कही। शासन-प्रशासन से हरसंभव आर्थिक सहायता तत्काल दिलाने का आश्वासन दिया। इमरान की शादी एक वर्ष पूर्व हुई थी। इमरान की पत्नी 9 माह के गर्भ से थी। गर्भ में पल रहे नवजात शिशु दुनिया देखने से पहले ही इस दुर्घटना से मौत के मुँह में समा गया। परिवार में खुशी आने से पहले ही काफूर हो गयी। वहीं मृतक सुलेमान के दो छोटे मासूम बच्चे हैं। जिनके ऊपर से पिता का छाया उठ गया। सुलेमान के पिता मोहम्मद उमर की बूढ़ी आंखों में आंसू नहीं रुक रहे थे। वहीं पत्नी सिर पटक-पटक कर रो रही थी।

ये भी पढ़ें:- यूपी पीएसी सिपाही का दर्द बयां करती विडियो वायरल, देखे विडियो 

परिवार की माली हालत काफी दयनीय है। परिवार का भरण पोषण के लिए यह लोग दर-दोजी का कार्य कर परिवार का भरण पोषण करते थे। मानो उसकी जिंदगी खत्म सी हो गई है। इस हृदय विदारक घटना से पूरा गांव रो रहा था। लोगों के घरों में चूल्हे नहीं जले। नौनिहाल बच्चे स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र नहीं गए थे। इस आकस्मिक घटना से पूरा गांव गमगीन था।

loading...
Loading...

You may also like

CM योगी ने किया अंतर्राष्ट्रीय मुख्य न्यायाधीश सम्मेलन का शुभारंभ, बोली ये बड़ी बात

लखनऊ। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा