68,500 सहायक शिक्षकों की भर्ती में लापरवाही, हाईकोर्ट ने योगी सरकार को लगाई फटकार

हाईकोर्टहाईकोर्ट

लखनऊ। इलाहबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने मुख्यमंत्री योगी की सरकार को फटकार लगाई है। हाईकोर्ट ने 68500 सहायक शिक्षकों की भर्ती में कापियां बदलने के मामले में हो रही धीमी जांच को लेकर जमकर फटकार लगाई है। हाईकोर्ट ने कहा है कि यह बेहद आश्चर्यजनक बात है कि तीन हफ्ते बीतने के बाद भी सरकार दोषियों का पता नहीं लगा सकी है। साथ ही कोर्ट ने 27 सितंबर को जांच की प्रगति रिपोर्ट मांगी है। ऐसा न होने पर जांच समिति के चेयरमैन को हाजिर होने का निर्देश भी दिया गया है। बता दें कि याचिकाकर्ता की आंसर शीट के पहले पेज पर अंकित बार कोड अंदर के पेजों से मेल नहीं खा रहा है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के लखनऊ खंडपीठ ने लगायी फटकार

उछ न्यायालय के न्यायमूर्ति इरशाद अली की बेंच ने मंगलवार को सोनिका देवी की याचिका पर सुनवाई की है। जिसमें याचिका पर पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया था कि याचिकाकर्ता की आंसर शीट के पहले पेज पर अंकित बार कोड अंदर के पेजों से मेल नहीं खा रहे है। हाईकोर्ट ने इस पर हैरानी जताते हुए कहा था कि याचिकाकर्ता की आंसर शीट बदल दी गई है। इस पर कोर्ट के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह ने याचिकाकर्ता के अलावा अन्य कई अभ्यर्थियों की भी आंसर शीट्स में बदलाव की बात को स्वीकारा था। जिसके बाद आवश्यक जांच करने व दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा कोर्ट को दिया गया था। लेकिन अब तक इसमें कोई ख़ास कार्यवाही नहीं हो पायी है।

ये भी पढ़ें : पूर्व कांग्रेस सांसद पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज, पीएम मोदी पर अपशब्द का इस्तेमाल 

याचिकाकर्ता के आंसर सीट से हुई है छेड़छाड़

इस मामले की जांच के लिए आठ सितंबर को तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया गया है। कोर्ट ने अभ्यर्थियों की आंसर शीट्स बदलने वालों पर कार्रवाई की जानकारी मांगी तो सरकार की ओर से पेश अधिवक्ताओं के पास कोई जवाब नहीं था। इस पर हाईकोर्ट ने कहा है कि यह हैरानी की बात है कि लगभग तीन सप्ताह बीत जाने के बाद भी उत्तर पुस्तिकाओं के साथ छेड़छाड़ करने वालों का पता नहीं चल सका है।

loading...
Loading...

You may also like

कांग्रेस के अन्दर था इस बात का डर वरना सिंधिया के नाम पर लग सकती थी मुहर…

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश (MP) में सत्ता से दूर