अगर हम देशद्रोही होते ,तो गृहमंत्री हमें भाई न कहते: बदरूद्दीन

बदरूद्दीन
Please Share This News To Other Peoples....

गुवाहाटी  आल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के अध्यक्ष बदरूद्दीन अजमल ने गुरुवार को सेना प्रमुख के बयान का करारा जवाब दिया है।  उन्होंने कहा कि अगर सेना प्रमुख कहते हैं कि असम में जनसांख्यिकीय बदलाव हो रहे हैं। तो यह सरकार का काम है और इसकी जांच करे।

ये भी पढ़ें :-इन्वेस्टर्स समिट : पियूष गोयल बोले- देश के विकास का इंजन बनेगा यूपी 

घुसपैठियों को सेना तुरंत गोली मारे, मांग करने  वाली हमारी इकलौती पार्टी

अजमल ने कहा कि हमारी इकलौती पार्टी है। जो यह कहती है कि जिसने भी हमारी सीमाओं में घुसपैठ की है तो उसे गोली मार दी जाए।  यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही। उन्होंने कहा कि लोग कहते हैं कि हम मुस्लिम पार्टी हैं जो कि एक झूठ है।  हम सभी चुनावों में हमेशा 20-25 सीट अपने हिंदू भाइयों को देते हैं।  मुस्लिम भाइयों ने इस देश की आजादी के लिए अपनी जान की कुर्बानियां दी हैं।

प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और गृहमंत्री से मिलने का मांगा समय

अजमल ने कहा कि हमने प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और गृहमंत्री से मिलने का समय मांगा है।  हमारे विधायकों का एक प्रतिनिधमंडल उनसे मिलकर हमारा पक्ष उनके सामने रखेगा।  उन्होंने कहा कि  जब कभी हम गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलते हैं। तो वह हमसे पूरे जोश के साथ मिलते हैं और हमें बदरूद्दीन भाई कहकर बुलाते हैं।  अगर हम एंटी नेशनल होते तो क्या वह हमारा स्वागत करते।

ये भी पढ़ें:-नसीमुद्दीन सिद्दीकी के साथ दर्जनों पूर्व सांसद और विधायक ने थामा कांग्रेस का हाथ

हैरानी भरा बयान है सेना प्रमुख का बयान 

इससे पहले अजमल ने ट्वीट किया कि जनरल रावत ने राजनीतिक बयान दिया।  यह हैरानी भरा है।  सेना प्रमुख के लिए यह चिंता का विषय क्यों है कि लोकतांत्रिक एवं धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के आधार पर कोई राजनीतिक दल भाजपा की तुलना में तेजी से बढ रहा है।  अजमल ने रावत के गुरुवार के इस बयान के जवाब में ट्वीट किया है कि एआईयूडीएफ का विकास 1980 के दशक में भाजपा के विकास से ‘तेज’ रहा है।  सेना प्रमुख असम के कई जिलों में मुस्लिम जनसंख्या बढने की खबरों के संदर्भ में बात कर रहे थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *