Main Sliderख़ास खबरबिहारराष्ट्रीयस्वास्थ्य

घर-घर जाकर “पल्स पोलियो अभियान” की तर्ज पर हो प्रवासी मजदूरों की स्क्रीनिंग : नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को पल्स पाेलिया अभियान की तर्ज पर ही सभी प्रवासी मजदूरों की भी घर-घर जाकर स्क्रीनिंग कराए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि इससे कोरोना से संबंधित कोई लक्षण होने से उसकी तुरतं पहचान हो सकेगी।

श्री कुमार ने गुरुवार को यहां कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये किये जा रहे कार्यों की मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ हुई उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक में निर्देश दिया कि पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर ही सभी प्रवासी मजदूरों की भी घर-घर जाकर विस्तृत स्क्रीनिंग करायी जाय ताकि कोरोना से संबंधित कोई लक्षण हो तो उसकी तुरंत पहचान हो सके।

इस बार की ईद संयम से घरों में रहकर सादगी से मनाएं : आन्जनेय कुमार सिंह, जिलाधिकारी

उन्होंने कहा कि इसके लिये उपयुक्त टीम गठित कर कार्रवाई सुनिश्चित की जाय, इससे सभी की सुरक्षा हो सकेगी।

मुख्यमंत्री ने स्क्रीनिंग की यह प्रक्रिया लगातार जारी रखने का निर्देश देते हुए कहा कि एक अंतराल के बाद पुनः स्क्रीनिंग करायी जाय और इसका फाॅलोअप भी किया जाय ताकि कोई प्रवासी मजदूर स्क्रीनिंग से न छूटे और संक्रमण की ससमय पहचान कर कोरोना चेन को तोड़ा जा सके।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की जांच एवं बचाव से संबंधित जो भी उपकरण प्राप्त हुये हैं या शीघ्र प्राप्त होने वाले हैं, उन्हें शुरू कराया जाय। प्राप्त नये उपकरणों के माध्यम से जांच में और तेजी लायी जाय।

सभी जिलों एवं चिन्हित स्वास्थ्य संस्थानों में जांच तेजी से शुरू की जाय। इसके लिये प्रोटोकाॅल के अनुसार तुरंत कार्रवाई सुनिश्चित की जाय।

loading...
Loading...