चाटुकारिता से होमगार्ड विभाग पस्त, कमांडेंट काम छोड़ सैल्यूट ठोंकने में मस्त

होमगार्ड विभागहोमगार्ड विभाग

लखनऊ। होमगार्ड विभाग के कई अफसरों को लखनऊ से मोहब्बत हो गई है। विभाग के अफसर अपने मंत्री और शासन के अफसरों को सैल्यूट ठोंकने की आदत इस कदर बेचैन कर देती है कि वे दूसरे जनपदों में तैनाती के बाद भी भाग-भाग कर लखनऊ आ जाते हैं।

लखनऊ से मोहब्बत के कारण जिलों में लग रहा है पत्रावलियों का ढेर

होमगार्ड विभाग का काम हो या न हो बस उन्हें तो लखनऊ में ही रहना है। यही वजह है कि जनपदों में जवानों की समस्याओं की पत्रावलियां का ढेर लगता जा रहा है। इसमें नंबर वन पर कभी लखनऊ में लंबे अर्से से रहे कमांडेंट सुधाकराचार्य पाण्डेय का नाम आता है। पाण्डेय मेरठ में तैनात हैं,लेकिन इन्हें बापू भवन से लेकर सचिवालय की गलियारों में कभी भी देखा जा सकता है। इसी तरह अरूण सिंह जिन्हें मुरादाबाद पसंद नहीं है। तभी तो वह बापू भवन में सुबह 10 बजे से लेकर जब तक होमगार्ड विभाग के मंत्री का कार्यालय बंद नहीं हो जाता यहीं पड़े रहते हैं। मंत्री का करीबी होने का ये पूरा फायदा उठा रहा है।

ये भी पढ़ें :-आबकारी विभाग का खेल: हुक्का बार की आड़ में धड़ल्ले से चल रहा है विदेशी शराब का धंधा 

सैल्यूट मारने के चक्कर में मुख्यमंत्री का आदेश हो जाता है  दरकिनार

सूबे के होमगार्ड मंत्री अनिल राजभर को सैल्यूट मारने की बेचैनी होमगार्ड विभाग के कमांडेंट्स को इस कदर रहती है कि वे मुख्यमंत्री के आदेश को भी दरकिनार करने से नहीं चूकते। इन्हें मालूम है कि मंत्री की चाटुकारिता करना ही उनके लिए काफी है । मेरठ के कमांडेंट सुधाकराचार्या पाण्डेय,मुरादबाद के कमांडेंट अरूण सिंह के अलावा कई ऐसे कमांडेंट हैं जो लखनऊ में ही जमे रहते हैं।

कई जिलों में चल रहा है कमांडेंट के फर्जी हस्ताक्षर का खेल

इनमें गोण्डा के कमांडेंट डीडी मौर्या,ललितपुर के कमांडेंट ए पी सिंह,अलीगढ़ के मंडलीय कमांडेंट घनश्याम चतुर्वेदी, देवीपाटन मंडल के मंडलीय कमांडेंट सीएच मिश्रा का नाम शामिल है। इसी तरह कई और कमांडेंट हैं। यदि उनकी नियमित ड्यूटी की जांच करा ली जाये तो जिलों में फर्जी हस्ताक्षर से खेल चल रहा है और वे लखनऊ में पड़े रहते हैं। इस चाटुकारिता का असर विभाग पर पड़ रहा है कि जनपदों में कर्मचारियों की समस्याओं की पत्रावलियां धूल फांक रही हैं।

loading...
Loading...

You may also like

गाजियाबाद : बहुमंजिला ईमारत के 120 फीट ऊंचाई से कूदकर प्रेमी युगल ने दी जान

गाजियाबाद। दिल्ली से सटे गाजियाबाद के राज नगर