मेजर गोगोई अगर दोषी तो उनकी  सजा बनेगी उदाहरण : सेना प्रमुख 

मेजर गोगोईमेजर गोगोई

श्रीनगर। श्रीनगर जम्मू कश्मीर पहुंचे सेना प्रमुख बिपिन रावत ने आज कहा कि हमलोग सीमा पर शांति चाहते हैं, लेकिन पाकिस्तान लगातार युद्ध विराम का उल्लंघन कर रहा है।  सेना प्रमुख ने मेजर लितुल गोगोई के संबंध में जवाब दिया।  उन्होंने कहा कि भारतीय सेना में कोई भी व्यक्ति किसी भी रैंक पर हो। अगर वह गलत करता है और यह हमारे ध्यान में आता  है हम उसके खिलाफ कठोर कदम उठाते हैं।अगर मेजर गोगोई ने कुछ गलत किया होगा। तो हम लोग मेजर गोगोई को  सजा देंगे और सजा ऐसी होगी जो एक उदाहरण बन सके।

मेजर गोगोई नाबालिग कश्मीरी लडक़ी के साथ गुजराने वाले थे रात

मेजर लितुल गोगोई को श्रीनगर में पुलिस ने एक होटल में पकड़ा।  मीडिया में आयी खबरों को अनुसार, वे वहां एक नाबालिग कश्मीरी लडक़ी के साथ रात गुजराने वाले थे। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से युद्ध विराम का उल्लंघन किये जाने से लोगों की जान जा रही है और संपत्ति को नुकसान पहुंच रहा है।  उन्होंने कहा कि हम ऐसे मामलों में पलटवार करते हैं।

ये भी पढ़ें :-विकास की नई इबादत लिख रहा है झारखंड : पीएम मोदी 

पहले पाकिस्तान को अपनी ओर से होने वाली घुसपैठ को होगा रोकना

उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान शांति चाहता है तो हम लोग उसकी ओर से पहल की उम्मीद करेंगे।  इसके लिए पहले उसे अपनी ओर से होने वाली घुसपैठ को रोकना होगा।  सेना प्रमुख ने कहा कि हमलोगों ने आमलोगों के लिए माहौल बनाने के लिए ऑपरेशन को रोका।  हमें लगता है कि इससे लोग खुश हुए, हम चाहते हैं कि यह समान तरीके से चले।  ताकि हम संघर्ष को रोक सकें, लेकिन अगर आतंकी गतिविधियां नहीं रुकेंगी तो हमारे लिए यह संभव नहीं है।

बाबा अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के लिए तालमेल से करें काम

उन्होंने अगले माह बाबा अमरनाथ यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए सेना के ऑपरेशन शिवा की रणनीति की समीक्षा करते हुए उसे अंतिम रूप दिया। इसके बाद सैन्य कमांडरों को तीर्थयात्रा को पूरी तरह सुरक्षित व निर्विघ्न रूप से संपन्न कराने के लिए नागरिक प्रशासन के साथ पूरा समन्वय बनाए रखने को भी कहा। उधर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एवं श्राइन बोर्ड के चेयरमैन एनएन वोहरा ने कहा है कि श्री बाबा अमरनाथ यात्रा से जुड़े विभागों व सुरक्षा एजेंसियों को आपसी तालमेल से काम कर इसे सफल बनाना चाहिए। सुरक्षाकर्मी सतर्कता बरतें व बेहतर तालमेल से काम करें।

28 जून से शुरू हो रही है अमरनाथ यात्रा

राजभवन, श्रीनगर में राज्यपाल ने 28 जून से शुरू हो रही यात्रा को लेकर उच्च स्तरीय बैठक में बाबा अमरनाथ यात्रा के प्रबंधों, श्रद्धालुओं की सुविधाओं व सुरक्षा प्रबंधों का जायजा लिया। सेना व पुलिस अधिकारियों ने राज्यपाल को किए जाने वाले सुरक्षा प्रबंधों की विस्तार से जानकारी दी। बैठक में यात्रा के कंट्रोल गेट, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की तैनाती, बचाव दल, अग्निशमन कर्मचारियों की तैनाती, यात्रा मार्ग पर महत्वपूर्ण स्थानों पर एक्सरे स्कैनिंग यूनिट पर विचार विमर्श किया गया। राज्यपाल ने कहा कि विभिन्न सेवाएं देने वालों का तीन लाख रुपये का बीमा किया जाएगा।

loading...
Loading...

You may also like

आगरा से दिल्ली जा रही बस अचानक पलटी, एक की मौत व कई घायल

नोएडा। नोएडा महामाया फ्लाईओवर के निकट एक बड़ा