यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान पकड़ी गई नकल तो भेजे जाएंगे जेल

यूपी बोर्ड परीक्षा
Loading...

कानपुर। यूपी बोर्ड की 18 फरवरी से शुरू हो रही परीक्षा की पहली बार ऑनलाइन निगरानी जनदीय और प्रांतीय कंट्रोल रूम से की जा रही है। नकलविहीन परीक्षा कराना मुख्य उद्देश्य है। यदि किसी केंद्र में नकल पकड़ी गई तो केंद्र व्यवस्थापक और नकल कराने वाले जेल जाएंगे।

बीएनएसडी शिक्षा निकेतन में बुधवार को यूपी बोर्ड परीक्षा तैयारी के संदर्भ में प्रशासनिक बैठक हुई, जिसे जिलाधिकारी डॉ. ब्रह्म देव राम तिवारी और डीआईजी अनन्त देव और अपर जिलाधिकारी वीरेंद्र पाण्डेय के अलावा जिला विद्यालय निरीक्षक सतीश कुमार तिवारी ने संबोधित किया। बैठक में सभी जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेटों के अलावा केंद्रव्यवस्थापक मौजूद रहे।

सीसीटीवी कैमरों की निगरानी : केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग एक सप्ताह तक सुरक्षित रखी जाएगी। परीक्षा कक्षों में कोई भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं ले जाने दिया जाएगा। शिक्षकों के लिए मोबाइल फोन प्रतिबंधित रहेगा। सीसीटीवी कैमरों की मॉनेटरिंग ऑनलाइन 25 कम्प्यूटरों से की जाएगी। ओंकारेश्वर में इसका कंट्रोल रूम रहेगा, जिसके प्रभारी एडीएम एफआर रहेंगे।

Loading...
loading...

You may also like

चंद दिनों में सफेद बालों को काले कर देगा इस सब्जी का छिलका

Loading... 🔊 Listen This News लाइफ़स्टाइल। आजकल बढ़ते