खुलासा : हरियाणा के कुख्यात सतवीर ने कैशियर की हत्याकर लूटे थे लाखों

- in Main Slider, क्राइम, लखनऊ

लखनऊ । विभूतिखण्ड में गैस एजेंसी के कैशियर की हत्या और लूट की वारदात राजस्थान अलवर के कुख्यात लुटेरे सतवीर ने अपने 3 अन्य साथियों के साथ दी थी। राजधानी पुलिस ने लूट व हत्याकाण्ड़ का खुलासा करते हुए कुख्यात लुटेरे को फैजाबाद रेलवे स्टेशन के पास से शनिवार को गिरफ्तार किया है। हालांकि बदमाश के अन्य साथी पुलिस पहुंच से अभी दूर हैं। पुलिस का दावा है कि बदमाश फैजाबाद में लूट की वारदात देने के लिए रेकी करने पहुंचे थे। आरोपित के कब्जे से लूटे हुए रुपये तमंचा और कारतूस, पिट्ठू बैग, मास्क, टोपी व कपड़े बरामद हुए हैं।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर शनिवार सुबह आरोपित को फैजाबाद रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में आरोपित ने अपना नाम भीमनगर अलवर राजस्थान निवासी सतवीर बताया है। आरोपित मूल रूप से हरियाणा गुडग़ांव जटौली पटौदी का रहने वाला है।

बकौल पुलिस आरोपित ने कबूला कि नवरात्री में वह अपने घर में था। लखनऊ में मौजूद उसके साथ सुन्दर ने गैस एजेंसी के कैशियर की रेकी कर सतवीर को बताया था। 13 अक्टूबर को सतवीर हरिद्वार होते हुए राजधानी पहुंंचा था। यहां वह पीजीआई इलाके में स्थित मधु पैलेस गेस्ट हाऊस में रूका था। 15 अक्टूबर को सतवीर ने सुन्दर के साथ विभूतिखण्ड में कैशियर की रेकी की थी। जिसके बाद सतवीर 16 अक्टूबर को वापस अयोध्या चला गया था। 28 अक्टूबर सतवीर पुन: राजधानी लौट आया था और चारबाग इलाके में स्थित कैलाश लॉज में रूका था।

ये भी पढ़ें:- हत्या कर बोरिंग मिस्त्री का पेड़ से लटकाया शव, चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज 

उसी रात उससे मिलने सुन्दर, सोनू व अनूप उर्फ अन्नू पहुंचे थे। सुन्दर ने सतवीर को नकब, कपड़े व टोपी दी थी। चारों लोगों ने उसी रात को वारदात को अंजाम देने वाली जगह की फिर से रेकी की और लूट का तानाबाना बुना था। अगले दिन सुबह 8 बजे सतवीर को लेने अन्नू होटल के पास पहुंच गया था।

स्पेलण्डर मोटरसाइकिल पर बैठे-बैठे सतवीर ने टी-शर्ट और रास्ते में रूक कर उसने पैंट बदली थी। घटना स्थल से थोड़ी दूर पर बंद पेट्रोल पम्प के पास सुन्दर और सोनू सफेद अपाचे मोटरसाइकिल से मिले थे। यहीं पर सुन्दर ने सतवीर को लोडेड तमंचा उपलब्ध कराया था। मास्क और कैप लगाकर सतवरी व अनूप बैंक के पीछे गैस एजेंसी के कैशियर का इंतजार करने लगे थे। कुछ ही देर में कैशियर बैंक के बाहर स्टेण्ड पर पहुंच कर अपनी मोटरसाइकिल खड़ी करने लगा। इसी दौरान सुन्दर कैशियर की ओर इशारा कर निकल गया था।

सतवीर मोटरसाइकिल से उतरकर कैशियर के पास पहुंचा और रुपयों से भरा बैग छीनने लगा। कैशियर द्वारा विरोध करने पर सतवीर ने उस पर फायर झोंक दिया था। पीठ में गोली लगने से कैशियर मौके पर ही ढेर हो गया था। सतवीर बैग छीनकर अनूप की मोटरसाइकिल पर सवार होकर भाग निकला था। आरोपित के कब्जे से 1 लाख 35 हजार रुपये नगद, देशी तमंचा कारतूस के साथ, मोबाइल फोन, पट्ठू बैग, टोपी, मास्क, गमछा और कपड़े बरामद हुए हैं।  पुलिस का दावा है कि बरामद हुर्ई नकदी लूट की है।

घटना स्थल से चंद कदमों की दूरी पर बदले कपड़े

एसएसपी ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद सतवीर और अनूप गली-कूंचों से होते हुए मौके से भाग निकले थे। घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर फैजाबाद रोड के किनारे बांस की दुकान पर लुटेरे पहुुंचे थे। यहां पर सुन्दर और सोनू पहले से ही खड़े हुए थे। यहीं पर सतवीर ने पुलिस को चकमा देने के लिए अपने कपड़े बदले और रुपयों से भरा बैग सुन्दर के हवाले कर भाग निकला था। सुन्दर ने लूट की रकम का बंटवारा राजस्थान पहुंचने पर करने के लिए कहा था। चारबाग में लुटेरों ने एक बार फिर मुलाकात की थी।

हत्या करने के बाद खरीदी गजक

एसएसपी ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद सतवीर चारबाग से आलमबाग पहुंच गया था। यहां समय बिताने के लिए वह मार्केट में घूमता रहा। इस दौरान उसने लाल रंग का ट्राली बैग और परिजनों के लिए गजक खरीदी। शाम करीब 3.30 बजे वह वापस चारबाग में स्थित होटल पहुंच गया। करीब 10 मिनट बाद वह अपना सामान लेकर होटल का कमरा खाली करके चला गया था। चारबाग रेलवे स्टेशन पर देर शाम को ट्रेन पर सवार होकर वापस अपने घर लौट गया था।

गुमराह करने के लिए साथ में लाया था मासूम किशोर

एसएसपी ने बताया कि आरोपित सतवीर 14 अक्टूबर को घटना स्थल की रेकी करने राजधानी पहुुुंचा था। वह अपने साथ 9 वर्षीय बच्चा भी लाया था। बच्चे के साथ वह पीजीआई इलाके में एक होटल में रुका था। 28 अक्टूबर को वारदात को अंजाम देने वह पुन: राजधानी आया था। इस बार भी अपने साथ एक बच्चा लाया था और वह चारबाग में स्थित लॉज में रूका था। बच्चे को रुपये देकर होटल के आस-पास घूमने की बात कह कर सतवीर अगले दिन वारदात को अंजाम देने पहुंचा था। लौटने पर वह बच्चे को वापस लेकर निकल गया था। पुलिस के मुताबिक आरोपित ने कबूला कि उस पर कोई शक न करे इसलिए वह बच्चे को साथ में रखता था।

 

loading...
Loading...

You may also like

पटना: ऑनलाइन सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, यहां से बुलाई जाती थीं लड़कियां, ऐसे होती थी बुकिंग

पटना। पटना पुलिस को एक बार फिर बड़ी