किशोर की हत्या के मामले में बिन बुलाए मेहमानों पर घूमी शक की सुई

- in क्राइम, लखनऊ
गला घोंंट कर हत्यागला घोंंट कर हत्या

लखनऊ। ठाकुरगंज के गढ़ी पीर खां में कुकर्म के बाद मासूम की हत्या करने वाले दरिन्दों की तलाश आखिरी दौर में है। छह दिन से चल रही जांच पड़ताल में पुलिस ने इलाके के करीब दो दर्जन से कुछ संदिग्ध चिन्हित किए हैं और उन पर शिकंजा कसा जा रहा है।

हत्या के मामले में मेहमानों पर शक की सुई

जानकार सूत्र बताते हैं कि इस क्षेत्र के कुछ ऐसे नशेड़ी हैं, जो किसी भी प्रोग्राम में बिना बुलाए मेहमान बनकर शामिल होते हैं और मौका मिलते ही किसी का सामान लेकर फुर्र हो जाते हैं या फिर कोई बड़ी घटना को अंजाम देने में जुट जाते हैं।  इस मामले में जांच में जुटे एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि इससे नकारा नहीं जा सकता, लिहाजा कातिलों की तलाश में कई दिशाओं को जोडक़र गहन छानबीन की जा रही है।

करीब दो दर्जन संदिग्धों को चिहिन्त कर पुलिस जांच में जुटी

ठाकुरगंज के गढ़ी पीर खां में चार साल के मासूम बच्चे की बेरहमी से की गई हत्या की पड़ताल में जुटी पुलिस ने गढ़ी पीर खां के आसपास में रहने वाले संदिग्धों के बारे में छानबीन के दौरान अब तक करीब दो दर्जन से अधिक लोगों को संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर उनका ब्योरा दर्ज किया। इसके साथ बच्चे के करीबियों की अलग-अलग सूची तैयार कर उनकी गतिविधियों पर गहन नजर रखी गई। इस पड़ताल में संदिग्धों को चिन्हित किया गया है।

सूत्रों की मानें तो जांच पड़ताल में पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि मासूम की जान नशेडिय़ों ने ही लिया है। यह भी बताया जा रहा है कि गढ़ी पीर खां में कुछ ऐसे नशेड़ी हैं,जो शादी समारोह या फिर क्षेत्र में कोई भी होने वाले प्रोग्राम में बिन बुलाए मेहमान बनकर पहुंच जाते हैं और मौका मिलते ही वे किसी के सामान पर हाथ फेर देते या फिर किसी संगीन वारदात को अंजाम देने की फिराक में रहते हैं।

एक दर्जन से अधिक नशेड़ी पुलिस रडार पर

बताया जा रहा है कि मासूम हत्याकांड में भले ही मां की तहरीर पर पुलिस नामजद हत्या की रिपोर्ट दर्ज की हो, लेकिन हत्या किए जाने का शक क्षेत्र के कुछ नशेडिय़ों पर ही गहरा रहा है। संदेह के घेरे में लिए गए दो दर्जन से अधिक लोगों में से ही किसी ने वारदात को अंजाम दिया है। सूत्र बताते हैं कि दो नशेडिय़ों से नजदीकी बनाकर राज उगलवाने की कोशिश की जा रही है। पुलिस ने कई तरह का हथकंडा अपनाया,लेकिन छह दिन की कवायद में अभी तक यह तय हो सका कि दरिन्दगी के बाद मासूम की कू्ररता से हत्या कराने वाला कौन है।

बच्चे के शरीर चोटों के निशान भी काफी कुछ बयां कर रहे थे। इसके चलते पुलिस की नजर आसपास के नशेडिय़ों पर टिकी हुई है। इस मामले एसपी पश्चिम का कहना है कि नामजद रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने पति सहित कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, लेकिन उनसे कुछ साक्ष्य नहीं मिल सका था। अब तक की त तीश में कुछ अहम जानकारियां मिली है, जिनके आधार पर जल्द ही मामले की खुलासा कर दिया जाएगा।

loading...

You may also like

पहले ही दिन खुली आयुष्मान भारत की पोल, डॉक्टर को ही नहीं थी कोई जानकारी

लखनऊ। रविवार को उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ के इदिरा