आजादी के 71 साल बाद आजाद हुआ रोहनात गांव

रोहनातरोहनात

भिवानी। हरियाणा के भिवानी शहर के रोहनात गांव आजादी के 71 साल बाद भी गुलामी की बेड़ियों से आजाद नहीं हुआ था। लेकिन अब रोहनात गांव आज स्वतंत्रता मिली है। जिस गांव ने देश के लिए इतना कुछ किया उसके लिए सरकारों ने भी अभी तक कुछ नहीं किया।लेकिन आज जाकर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने आज जाकर वहां तिरंगा फहराया है।इतना ही नही उन्होंने रोहनात गांव के बुजुर्गों सम्मानित करके गाँव में  लाखो रूपयों की परियोजनाओ का भी शुभारम्भ किया।

71 साल बाद आज आजाद हुआ रोहनात गांव

आप को हम बता दे कि 14 सितम्बर 1857 के अंगेजो ने इस गाँव को बागी घोषित कर दिया व पूरे गाँव की नीलामी के आदेश दे दिए थे। 20 जुलाई, 1858 में गाँव के पूरी जमीन व मकानों तक को नीलाम कर दिया। पूरे गाँव की जमीन 20656 बीघे थी। इतनी पूरी जमीं को पास के ही गाँव के 61 लोगो ने मात्र 8 हजार रूपये में ख़रीदा था।

ये भी पढ़े : राज्यसभा चुनाव : राजाभैया का ऐलान हम तो है अखिलेश के साथ

अंग्रेज सरकार ने फिर फरमान भी जारी कर दिया कि भविष्य में इस जमीन केा रोहनात के लोगों को ना बेचा जाए। लेकिन बाद में स्थिति सामान्य हो गई और यहां के लोगों ने अपने रिश्तेदारों के नाम कुछ एकड़ जमीन खरीदकर दोबारा गांव बसाया, लेकिन लोगो को आज भी मामल है कि देश की आजादी के लिए अपना सब कुछ खो देने के बावजूद उन्हें वो जमीन तक नहीं मिली जिसके लिए वे आज तक लड़ाई लड़ रहे हैं।जिस गाँव ने भारत को इतना कुछ दिया उस गाँव के 71 साल  आयी सरकारे ने कुछ नही किया।

 

loading...
Loading...

You may also like

राहुल गांधी का MP दौरा, किये प्रसिद्ध मां पीतांबरापीठ के दर्शन

भोपाल। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों अपना