INS Karanj स्वदेशी पनडुब्बी लांच, चीन और पाकिस्तान की बढ़ी मुश्किलें

INS Karanj
Please Share This News To Other Peoples....

मुंबई। भारत को एक और बड़ी ताकत मिल गयी है, जिससे अब पाकिस्तान और चीन के लिए समुद्री क्षेत्रों में चिंता बढ़ सकती है। भारतीय नौसेना ने एक और पनडुब्बी को लांच किया है। देश की स्कॉर्पीन श्रेणी की यह तीसरी पनडुब्बी है, जिसका नाम INS करंज (INS Karanj) है। इसे मुंबई के मझगांव डॉक पर इसे ट्रायल के लिए पानी में उतारा गया। जिसे समय इसे पानी में उतारा गया उस समय नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा भी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें:-India बना विश्व का छठा सबसे अमीर देश, ऑस्ट्रेलिया व फ़्रांस को छोड़ा पीछे 

INS Karanj की ताकत

  • इस पनडुब्बी का निर्माण मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड ने फ्रांस की मदद से किया हैं।
  • आधुनिक तकनीक से लेस INS Karanj कम आवाज से दुश्मन के जहाज को चकमा देने में माहिर है।
  • खास बात यह है कि ये पनडुब्बी भारत में मेक इंडिया के सहत बनाई गयी है ये स्वदेशी पनडुब्बी है।
  • वहीं इसका अपने दुश्मनों पर आसानी से निशाना साधने और अत्याधुनिक तकनीकों से लेस होना चीन और पाकिस्तान जैसे देशों की मुश्किलें बढ़ा सकता है।
  • साथ ही इसमें तारपीडो जैसे हथियार भी हैं जो आसानी से दुश्मन को मार गिरा सकते हैं।
  • इसके आलावा इसमें दुश्मन के इलाके में नजर रखने के लिए भी इसमें ख़ास तरह के यंत्र लगे हुए हैं।
  • उम्मीद है इसे अगले साल नौसेना में शामिल कर लिया जाएगा।
  • इससे पहले भारतीय नौसेना में कलवरी को पिछले महीने ही नौसेना में शामिल किया गया था।
  • जिसके बाद दूसरी पनडुब्बी खंदेरी का अभी ट्रायल चल रहा हैं।
  • कहा जा रहा है कि ऐसी 6 पनडुब्बी मझगांव डॉकयार्ड में बनेगी।
  • जिन्हें साल 2020 तक नौसेना में शामिल हो जाएगी।
  • हिन्द महासागर में बढ़ती चुनातियों को देखते हुए नौसेना के पास दर्जन भर ही पनडुब्बी हैं।
  • INS Karanj टारपीडो और एंटी शिप मिसाइल से हमला करती है।
  • रडार की पकड़ में नहीं आती, समंदर से जमीन पर और पानी के अंदर से सतह पर हमला करने में सक्षम है।
  • इसका वजन 67.5 मीटर लंबी, 12.3 मीटर ऊंची और 1565 टन है।
  • जिसमें ऑक्सीजन भी बनाया जा सकता है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *