कांग्रेस संग कांशीराम की नीतियों को बढ़ाएगी जन अधिकार पार्टी

लोकसभा चुनाव 2019लोकसभा चुनाव 2019
Loading...

लखनऊ। जन अधिकार पार्टी का कांग्रेस से गठबंधन होने को लेकर सोमवार को जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आई पी कुशवाहा ने प्रेस वार्ता का आयोजन किया। कुशवाहा ने बताया कि कांग्रेस से गठबंधन के तहत पार्टी सात लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है। इन सात सीटों में गाजीपुर, चंदौली, झांसी, एटा, बस्ती और बलिया के अलावा एक और सीटें हैं जिनकी घोषणा शीर्ष ही की जाएगी। घोषित सीटों में एटा से सूरज सिंह शाक्य, बस्ती से चंद्रशेखर सिंह, चंदौली से शिवकन्या कुशवाहा पत्नी बाबू सिंह कुशवाहा, झांसी से शिवशरण कुशवाहा बाबू सिंह कुशवाहा के छोटे भाई चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

लोकसभा चुनाव में जन अधिकार पार्टी की रणनीति का खुलासा करते हुए राष्ट्रीय महासचिव आई पी कुशवाहा ने बताया कि पार्टी संस्थापक अध्यक्ष बाबू सिंह कुशवाहा के नेतृत्व में चुनाव लड़ने जा रही है। कुशवाहा ने कहा कि आज के दौर में लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है और आम जनता अपने अधिकारों को लेकर परेशान हो रही है। इन्हीं दो प्रमुख मुद्दों को लेकर जन अधिकार पार्टी ने कांग्रेस से गठबंधन किया है।
आमजन को समान अधिकार, समान शिक्षा दिलाने की बात करते हुए आई पी कुशवाहा ने कहा कि जन अधिकार पार्टी मान्यवर कांशीराम की सोच को आगे बढ़ाते हुए लोकसभा चुनाव में उतर रही हैं। कांशीराम की नीतियों का वर्णन करते हुए कहा कि समाज के निचले और पिछड़े तबके को समान रूप से अधिकार मिले यही मान्यवर कांशीराम की सोच थी और इसी नीति पर आगे बढ़ते हुए बाबू सिंह कुशवाहा इस लोकसभा चुनाव में उतरने जा रहे हैं।
Loading...
loading...

You may also like

Chandra Grahan 2019: चंद्र ग्रहण से भारत में पड़ेगा यह प्रभाव

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। 2019