जावेद अख्तर ने कहा – माफी मांगकर नहीं कर सकता मुल्ला लोगों का फायदा

जावेद अख्तरजावेद अख्तर
Loading...

मुंबई :  बुर्के पर पाबंदी का विवादास्पद मुद्दा उठा तो मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने घूंघट पर भी पाबंदी लगाने की मांग की, अख्तर दावा करते हैं कि माफी नहीं मांगने पर करणी सेना ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी, राज्य सरकार ने फिलहाल उन्हें पुलिस सुरक्षा दी है, आपको बता दें कि अख्तर कहते हैं कि मैं करणी सेना से माफी नहीं मांगूंगा क्योंकि ऐसा करने से बुर्के के खिलाफ बरसों से चल रही मेरी लड़ाई पर पानी फिर जाएगा.

ये भी पढ़ें : Sarai Rohilla Express : 3AC के टॉयलट में महिला का शव मिला, लूट के बाद हत्या 

जावेद अख्तर ने ये कहा कि ये वे लोग हैं, जिन्हें मेरे बारे में बहुत कम पता है, मैं 25 सालों से मुस्लिम पर्सनल लॉ, तीन तलाक, पर्दा प्रथा के खिलाफ काम कर रहा हूं, बाकायदा हमारी एक संस्था है, हमने इसके खिलाफ जगह-जगह जलसे किए हैं, हमें धमकियां भी आईं, अब पर्दे का जिक्र आ रहा है तो घूंघट का जिक्र भी आएगा, लिहाजा मैंने घूंघट का भी जिक्र कर दिया, सवाल मुंह पर पर्दे का है, चाहे बुर्का हो या घूंघट, इस पर मुझे धमकियां दी जा रही हैं.

ये भी पढ़ें : ग्रीन कार्ड लेकर अमेरिका में रह रहे लोग, नागरिकता पाने में दूसरे नंबर पर है भारत 

माफी मांगने के लिए कहा गया यानी मैं 20-25 साल से जो मुल्ला लोगों से लड़ रहा हूं, उस पर पानी फेर दूं वह लड़ाई बंद कर दूं, आपसे माफी मांग लूंगा तो उनसे क्या कहूंगा? कैसे मांग लूं माफी? वैसे भी पर्दा कल्चर का मजहब से कोई लेना देना नहीं है, आप (हिंदू कट्टरवादी) हमें कमजोर करना चाहते हैं, लेकिन सोच लें कि इससे कहीं न कहीं फायदा तो मुल्ला का होना है, जो हमसे लड़ रहा है

Loading...
loading...

You may also like

आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी, अलग-अलग साक्षात्कार गैरकानूनी

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। देश