जयंत सिन्हा समेत बीजेपी के दो बड़े नेताओं के नाम ‘पैराडाइस पेपर्स लीक’ में शामिल

Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। ‘पैराडाइस पेपर्स लीक’ मामले में भारत के बड़ी हस्तियों के नाम सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है। इसमें केन्द्रीय मंत्री हड़कंप विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा और बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का नाम भी शामिल है। इस पर पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के बेटे जयंत सिन्हा ने सफाई पेश करते हुए कहा है कि जो दस्तावेज मिले हैं, वो उस वक्त के हैं, जब वो मंत्री नहीं थे। मंत्री बनने के पहले ही उन्होंने कंपनी से इस्तीफा दे दिया था।

बता दें कि ‘पैराडाइस पेपर्स लीक में दुनिया भर के नामी हस्तियों नेताओं, एक्टर्स, कॉरपोरेट इंस्ट्रीज के मालिकों और बिजनेसमैन के नाम सामने आए हैं। ‘पनामा पेपर्स’ का खुलासा करने वाले जर्मनी के अखबार ‘जीटॉयचे साइटुंग’ ने ये ‘पैराडाइज पेपर्स’ को लेकर हैरान करने वाले खुलासे किए हैं। इस खुलासे में ‘पैराडाइज पेपर्स’ में फर्जी कंपनियों, फर्मों से जुड़े कुल 1.34 करोड़ दस्तावेज शामिल होने की बात कही गयी है। जिनमें अमिताभ बच्चन, केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा समेत 714 भारतीयों के नाम सामने आए हैं।  इसमें कालाधन’ और ‘भ्रष्टाचार’ को लेकर अहम खुलासा हुआ है।

वहीं इस खुलासे में कॉरपोरेट्स हाउस के नाम भी सामने आए हैं। जिनमें जीएमआर ग्रुप, अपोलो टायर्स, हेवेल्स, हिंदूजा समूह, एम्मार एमजीएफ, विडियोकॉन, हीरानंदानी समूह, डीएस कंस्ट्रक्शन, यूनाइटेड स्पिरिट्स लिमिटेड इंडिया और डिएगो के दस्तावेज भी लीक हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक ‘पैराडाइज पेपर्स’ में जयंत सिन्हा का नाम ‘ओमिड्यार नेटवर्क’ में साझेदारी को लेकर सामने आया है। बीजेपी सरकार में शामिल होने से पहले जयंत सिन्हा ‘ओमिड्यार नेटवर्क’ में बतौर मैनेजिंग डायरेक्टर काम करते थे। ‘ओमिड्यार नेटवर्क’ ने अमेरिकी कंपनी ‘डी लाइट’ डिजाइन में बड़ा निवेश किया था। रिपोर्ट्स में इस अमेरिकी कंपनी की टैक्स हैवन केमैन आइलैंड में सब्सिडियरी कंपनी होने की बात भी सामने आई है।

वहीं इस मामले में एक और बीजेपी नेता का नाम शामिल होने की बात कही गयी है। रिपोर्ट में बीजेपी के राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा का नाम भी सामने आया है। जहाँ एक तरफ कालेधन के खिलाफ लड़ाई का हवाला देते हुए चुनाव लड़ रही बीजेपी 8 नवम्बर को कालाधन दिवस मनाने जा रही है। वहीं इस मामले बीजेपी के दो बड़े चहरों के नाम शामिल होने से पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती है।

‘पैराडाइज पेपर्स लीक’ मामले में इंटरनेशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (ICIJ) ने 96 मीडिया ऑर्गेनाइजेशन के साथ मिलकर ‘पैराडाइज पेपर्स’ नाम के दस्तावेजों की जांच कर बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा किया है इस खुलासे में दुनिया भर में ताकतवर लोगों का पैसा विदेशों में भेजने वाले फर्मों और फर्जी कंपनियों के बारे में बताया गया है।

Related posts:

वीरेन्द्र देव के आश्रम में पुलिस ने की छापेमारी
प्रेरणा पुंज है बाल अटल रचनात्मक कार्यशाला
चूड़ा-दही भोज नहीं मनायेगा लालू परिवार, समर्थक भी नहीं मनाएंगे इस साल त्योहार
लोकसभा चुनाव : खोया वोटबैंक लौटने से कांग्रेस में दौड़ी ख़ुशी की लहर, बीजेपी बेचैन
जुलूसों व होलिका दहन स्थलों पर विशेष सर्तकता बरती जाये : जिलाधिकारी
मोदी सरकार नियुक्त करेगी लोकपाल, अन्‍ना हजारे का अनशन समाप्त
लालू की एम्स से छुट्टी, वापस भेजे जा रहे हैं रांची जेल
भ्रष्ट प्रबंधक हटाओ-नवयुग बचाओ के लिए माध्यमिक शिक्षक संघ ने किया शान्ति मार्च
हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से बस जलकर खाक, क्लीनर झुलसा व यात्री सुरक्षित
मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों की तर्ज पर हो विशेष शिक्षकों का विनियमितीकरण
आरएसएस मानहानि मामले में राहुल पर आरोप तय, बोले मैं बेकसूर
पुलिस ने दिखाई सतर्कता, एक दर्जन मुकदमें दर्ज वाले गिरोह को दबोचा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *