अमित शाह के बयान से मिला बड़ा सन्देश, जदयू को मिलेगी मनचाही सीटें!

गठबंधनगठबंधन

पटना। बिहार दौरे पर गुरुवार को पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जदयू और एनडीए के बीच के रिश्ते पर चल रही चर्चाओं पर विराम लगा दिया है।  उन्होंने कहा कि बिहार में हमारा गठबंधन नीतीश कुमार के साथ है और यह बना रहेगा। पटना के ज्ञान भवन में पार्टी कार्यकर्ताओं के संबोधन में उन्होंने पार्टी की मजबूती पर बल तो दिया ही। इसके साथ ही गठबंधन पर  तमाम तरह की अटकलों को भी खारिज कर दिया।

लोकसभा चुनाव में  सभी 40 सीटों पर गठबंधन  के प्रत्याशी होंगे विजयी

उन्होंने कहा कि हम एकजुट हैं। हमें अपने सहयोंगियों को संभालना आता है। हमारे सभी सहयोगी हमारे साथ हैं। नीतीश कुमार भी साथ हैं और हमेशा साथ बने रहेंगे। आगामी लोकसभा चुनाव में यहां की सभी 40 सीटों पर गठबंधन  के प्रत्याशी विजयी होंगे। शाह ने कहा कि बिहार से ही हमने कांग्रेस मुक्त भारत अभियान की शुरूआत की थी। अब वह समय आ गया है कि देश से कांग्रेस को पूरी तरह उखाड़ देना है।

ये भी पढ़ें :-जनता की इन कसौटियों पर खरे उतरे मोदी, तो ही मिलेगी जीत

बिहार से भी पूरी तरह  हो जाएगा कांग्रेस का खात्मा

बिहार से भी पूरी तरह कांग्रेस का खात्मा हो जाएगा। जिस तरह से 2014 के लोकसभा चुनाव में केंद्र में पूर्ण बहुमत से हमारी सरकार बनी थी, 2019 में भी पूर्ण बहुमत की सरकार बनानी है। राहुल गांधी पर तंज करते हुए शाह ने कहा कि  वे घूम-घूम कर सवाल पूछते हैं। उन्हें तो जबाव देना चाहिए। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि जिस परिवार ने देश को बर्बाद किया है, उसका हर हाल में देश से सफाया कर देना है।

चार वर्षों में हमने वह काम कर दिखाया, जो इन्होंने चार दशकों में नहीं किया

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि हमने चार वर्षों में वह काम कर दिखाया, जो इन्होंने चार दशकों में नहीं किया। हमारी पार्टी एक परिवार की पार्टी नहीं है। यह जनता की पार्टी है। कार्यकर्ताओं की पार्टी है। 1950 से 2018 तक हमारे कार्यकर्ताओं ने संघर्ष किया है। श्यामा प्रसाद मुखर्जी, कैलाशपति मिश्र जैसे नेताओं के योगदान की वजह से आज भाजपा यहां तक पहुंची है। आज भी भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगातार कई राज्यो में हमले हो रहे हैं। उन्हें डराया जा रहा है, लेकिन हम झुकने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की धरती महान है। इस धरती को मैं नमन करता हूं। इस एेतिहासिक धरती का अपना महत्व है।

loading...
Loading...

You may also like

हादसा, हकीकत या श्राप का साया है,कालभैरव रहस्य 2

लखनऊ । भारत में मिथक और लोक कथाओं