वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक का दिल का दौरा पड़ने से निधन

कल्पेश याग्निककल्पेश याग्निक

इंदौर। दैनिक भास्कर के समूह संपादक कल्पेश याग्निक का बीती रात  दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 55 वर्ष के थे। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि याग्निक को बीती रात यहां उनके दफ्तर में दिल का दौरा पड़ा। उन्हें तत्काल एक निजी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों के तमाम प्रयासों के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका।

ये भी पढ़ें :-सिरफिरे आशिक ने मॉडल को बनाया बंधक, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी 

कल्पेश याग्निक की लेखनी में तेज और ओज था : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

याग्निक का शहर के तिलक नगर मुक्तिधाम में दोपहर अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें उनके छोटे भाई नीरज ने मुखाग्नि दी। उनके परिवार में उनकी मां, पत्नी और दो बेटियां भी हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने याग्निक के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि याग्निक की लेखनी में तेज और ओज था। वह समसामयिक विषयों पर लिखकर हमारी सामाजिक चेतना को झकझोर देते थे और सरकार को आईना दिखाते थे। उनके निधन से मैं अपने मन में सूनापन महसूस कर रहा हूं।

loading...
Loading...

You may also like

हादसा, हकीकत या श्राप का साया है,कालभैरव रहस्य 2

लखनऊ । भारत में मिथक और लोक कथाओं