Main Sliderख़ास खबरनई दिल्लीबिहारराजनीतिराष्ट्रीय

JP नड्डा ने लिया तैयारियों का जायजा, वरिष्ठ नेताओं को प्रवासी मजदूरों के लिए दिए निर्देश

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव अक्टूबर-नवंबर में होना है और इसके लिए भारतीय जनता पार्टी ने तैयारी बैठकों की शुरुआत कर दी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ बुधवार को बैठक की।

वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए हुई प्रदेश कोर ग्रुप की बैठक में बिहार विधानसभा चुनाव, बड़ी संख्या में प्रवासी दिहाड़ी मजदूरों के बिहार पहुंचने और कोरोना राहत पर चर्चा हुई।

मोदी कैबिनेट में दो लाख उद्यमों को सुविधा देने के लिए 10 हजार करोड़ की योजना मंजूर

बैठक में पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, पूर्व सांसद सी.पी. ठाकुर, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पार्टी के बिहार प्रभारी महासचिव भूपेंद्र यादव, संगठन महामंत्री बी.एल. संतोष समेत प्रदेश के कई वरिष्ठ पदाधिकारियों और संगठन से जुड़े नेताओं ने भाग लिया।

सूत्रों के मुताबिक, बैठक में जेपी नड्डा ने बिहार में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर विस्तार से चर्चा की।बैठक में पार्टी अध्यक्ष ने प्रदेश नेताओं को सामाजिक दूरी रखकर चुनाव की तैयारियों में जुटने को कहा। नड्डा ने कोरोना राहत, केंद्र सरकार के ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान और प्रवासी श्रमिकों का ख्याल रखने का निर्देश दिया।

महाराष्ट्र : पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2250 नये मामले, 65 लोगों की मौत

भाजपा नेताओं का मानना है कि अभी जो श्रमिक वापस बिहार आ रहे हैं, वे आने वाले चुनाव तक वहीं रहेंगे। इस लिहाज से बिहार पहुंचे श्रमिकों का भी पूरा ख्याल रखने का निर्देश दिया गया है। पार्टी अध्यक्ष ने इनको रोजगार उपलब्ध कराने पर विशेष जोर देने को कहा है।

भाजपा का दावा है कि कोरोना महामारी के बीच भी संगठन की मजबूती के लिए वह लगातार काम कर रही है। कुछ दिनों पहले ही भाजपा ने 243 विधानसभा प्रभारियों की सूची भी जारी कर दी थी और उन सबको संगठन के कार्य में लगने को भी कहा था।

इसके साथ ही भाजपा के लाखों कार्यकर्ता कोरोना महामारी में आम लोगों की मदद के काम में राष्ट्रीय अध्यक्ष के आदेश से लगे हुए हैं. भाजपा, बिहार में जनता दल-युनाइटेड के साथ सरकार में साझेदार है।

लिहाजा, सत्ताधारी पार्टी होने के नाते कोरोना संकट में लोगों को ज्यादा दिक्कत न हो, इसका ध्यान रखने को कहा गया है। लोगों को सरकार और पार्टी के स्तर से भी मदद में मिलने में कोई कमी न रहे, इसका भी ध्यान रखने को कहा गया है।

बैठक में नेताओं से कहा गया है कि राहत के साथ-साथ केंद्र की योजनाओं को घर-घर तक पहुंचना एक अच्छा जरिया हो सकता है, लिहाजा इस पर काम किया जाए।

केंद्र सरकार द्वारा जन धन योजना, उज्‍जवला योजना और 8 करोड़ गरीबों को निशुल्क खाद्य सामग्री मुहैया कराने, पार्टी द्वारा गरीबों के बीच राशन, साबुन, मास्क और कोरोना वायरस से बचने के लिए अन्य सामग्री बांटने पर फोकस करने को कहा गया है।

पार्टी आलाकमान ने यह निर्देश दिया है कि केंद्र सरकार की तरफ से घोषित 20 लाख करोड़ के पैकेज से आम लोगों को क्या फायदा होगा, उसकी भी जानकारी लोगों तक पहुंचाने की रणनीति बने। गौरतलब है कि चुनावी साल में पार्टी ने पहले ही संगठन के हर विंग को तैयार रहने को कहा था।

कुछ दिनों पहले ही पार्टी ने हर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रभारियों की नियुक्ति भी कर दी है। ‘हर बूथ मजबूत’ के सिद्धांत पर काम करते हुए बिहार भाजपा ने पहले ही 62 हजार बूथ प्रमुखों की नियुक्ति कर दी है।

loading...
Loading...