ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- कांग्रेस को आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत

ज्योतिरादित्य सिंधियाज्योतिरादित्य सिंधिया
Loading...

नई दिल्ली। राहुल गांधी के अध्यक्ष पद छोड़ने और कांग्रेस की वर्तमान स्थिति पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सलमान खुर्शीद के बाद अब पार्टी के एक और वरिष्ठ नेता ने टिप्पणी की है। पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस को इस समय आत्मनिरिक्षण करने की जरूरत है।

ज्योतिरादित्य ने कहा कि मैं किसी और की टिप्पणी पर कुछ नहीं कहना चाहूंगा, लेकिन इसमें कोई शक नहीं है कि कांग्रेस को आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है। मालूम हो कि सलमान खुर्शीद ने अपनी ही पार्टी की आलोचना करते हुए कहा था कि कांग्रेस की जो स्थिति है, उसमें महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव जीतने की संभावना नहीं है। पार्टी संघर्ष के दौर से गुजर रही है और अपना भविष्य तक तय नहीं कर सकती।

उन्होंने कहा था कि हमारी सबसे बड़ी समस्या यही है कि हमारे नेता (राहुल गांधी) हमें छोड़ कर चले गए। लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार के बाद हम एकजुट होकर विश्लेषण नहीं कर पाए हैं कि हमारी हार क्यों हुई है। हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे नेता दूर चले गए हैं। उनके जाने के बाद यह एक तरह का खालीपन है।

मैं उन लोगों की तरह नहीं कि मुश्किल में पार्टी छोड़ जाऊं

सलमान खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस एक पार्टी के रूप में जिस स्थिति में आ गई है, उसको लेकर मुझे तकलीफ है, मेरी चिंता है। हालांकि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता और मैं पार्टी भी नहीं छोड़ने जा रहा। उन्होंने कहा कि मैं उन लोगों की तरह नहीं हूं, जिन्हें पार्टी से सब कुछ मिला और जब मुश्किल हालात थे, तो वे पार्टी छोड़ कर चले गए।

एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद ने पार्टी की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा था कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी के इस्तीफे से संकट बढ़ा है। उनके इस फैसले के कारण पार्टी हार के बाद जरूरी आत्मनिरीक्षण भी नहीं कर पायी। हम विश्लेषण के लिए भी एकजुट नहीं हो सके कि हम लोकसभा चुनाव में क्यों हारे।

खुर्शीद ने कहा कि पार्टी संघर्ष के ऐसे दौर से गुजर रही है, जिसमें हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में पार्टी के जीतने की संभावना ही नहीं है। कांग्रेस पार्टी की हालत ऐसे स्तर पर पहुंच गई है कि न केवल आगामी विधानसभा चुनावों में बल्कि यह अपना भविष्य तक नहीं तय कर सकती है।

फिर अपने बयानों पर दी सफाई

सलमान खुर्शीद ने अपने बयानों पर सफाई दी है। उनसे जब उस बयान के बारे में पूछा गया जिसमें उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी के पद छोड़ने के कारण पार्टी अब तक हार की समीक्षा नहीं कर पाई है, तो उन्होंने कहा कि ऐसा करने के लिए एक नेतृत्व होना चाहिए, लेकिन दुर्भाग्य से और यह दुखद है कि पार्टी नेतृत्व विहीन हो गई।

उन्होंने कहा कि यह एक विचित्र स्थिति है। हम हार की समीक्षा जितनी जल्दी करें, अच्छा होगा। हमलोग के पास चुनाव में बेहतरीन घोषणापत्र था लेकिन हम लोगों को साथ नहीं ला सके। इसलिए हमें कुछ करना होगा।

उन्होंने कहा कि जो भी हमारी नेता हैं, मैं उन्हें चाहता हूं। मैं अपनी पीड़ा व्यक्त कर रहा हूं ताकि ये कहीं दर्ज हो। अक्तूबर में राज्यों में चुनाव निपटने के बाद ही नए पार्टी अध्यक्ष पर फैसला किया जा सकेगा।

Loading...
loading...

You may also like

दिवाली पर अलग उपायों को करने से बढ़ने लगती है आमदनी, इस बार जरूर अपनाएं

Loading... 🔊 Listen This News दिवाली के दिन