कर्नाटक में बीजेपी बनाने वाली थी सरकार, मायावती के फोन कॉल ने मचा दिया हडकंप

कर्नाटककर्नाटक

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित किये जाने के बाद भी अब तक तय नहीं हो पाया है कि इस बार राज्य में किसकी सरकार बनने वाली है। इसकी वजह यह है कि किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत हासिल नहीं हो पाया है। लेकिन बीजेपी जेडीएस से समर्थन लेकर सरकार बनाने की तैयारी में थी। तभी बसपा सुप्रीमो मायावती की एक फोन कॉल ने बीजेपी के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

बता दें कि कर्नाटक चुनाव में भाजपा को जहां 104 सीटें, कांग्रेस को 78 सीटें, जेडीएस को 37 सीटें और बसपा को एक सीट पर जीत मिली है, जबकि दो सीटें निर्दलीय ले गए हैं।

पढ़ें:- कर्नाटक की सरकार: कांग्रेस का पलटवार, कहा- हमारे संपर्क में भी हैं 4 BJP MLA 

कर्नाटक विधानसभा चुनाव : मायावती के एक फोन कॉल ने पलट दी बाजी

सूत्रों की माने तो बसपा सुप्रीमो मायावती ने ही सोनिया और जेडीएस के मुखिया एचडी देवगौड़ा से फोन पर बात कर दोनों को एक साथ आने का सुझाव दिया था। बसपा के आंतरिक सूत्रों का कहना है कि मायावती ने पार्टी के राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ को चुनाव के परिणाम आने के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद से मिलने को कहा था। इसके बाद गुलाम नबी ने भी सोनिया गांधी को जेडीएस से हाथ मिलाने की बात कही थी। मायावती ने खुद जेडीएस के देवगौड़ा से बात की और उन्हें कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए मनाया। इसके बाद सोनिया को भी फोन करके मायावती ने बात कर जेडीएस के साथ के लिए मनाया।

पढ़ें:- कर्नाटक विधानसभा चुनाव: कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी, बैठक में नहीं पहुंचे 3 विधायक 

राज्यपाल के फैसले पर सबकी नजर

अभी तक कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भी ये तय नहीं हो पाया है कि कौन सरकार बना रहा है। इस बीच कर्नाटक में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार वी एस येदिरुप्पा ने बुधवार को राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया है।

दूसरी तरफ कांग्रेस जेडीएस के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा कर रही है। वहीं मंगलवार को राज्यपाल ने कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं से मिलने से इंकार कर दिया था। जेडीएस के अध्यक्ष कुमारस्वामी राजभवन में राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। रुझानों में कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी के पास 104 सीटे, कांग्रेस 77 और जेडीएस 38 सीटें हैं।

loading...
Loading...

You may also like

BJP की कमल संदेश यात्रा के दौरान बाल-बाल बचे डिप्टी सीएम

लखनऊ। आज प्रदेश भर में भारतीय जनता पार्टी