कर्नाटक के रण में कूदे जेठमलानी

जेठमलानीजेठमलानी

नई दिल्ली। कर्नाटक में हो रहे सियासत के बीच बीजेपी के बीएस येदियुरप्‍पा मुख्यमंत्री के रूप में गुरुवार को शपथ ग्रहण कर ली है। हालाकी कांग्रेस इसे रोकने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी। इतना ही नहीं कांग्रेस ने सुप्रीमकोर्ट ने सहारा लिया। लेकिन सुप्रीमकोर्ट ने याचिका को ख़ारिज कर दिया है। हालांकि उसने बीजेपी से विधायकों का समर्थन पत्र मांगा है जिससे यह साबित हो पाए कि पार्टी को बहुमत हासिल है। अब इसी बीच वकील जेठमलानी राज्यपाल के फैसले को चुनौती दे दी है। कोर्ट ने कहा है कि वह राम जेठमलानी की अर्जी पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा। मंगलवार को नतीजे आने के बाद से घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है।

बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता पहले क्यों : जेठमलानी

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी ने कर्नाटक के गवर्नर के बीजेपी को सरकार बनाने का पहले न्‍योता देने पर सवाल खड़ा कर दिया है। जेठमलानी ने याचिका मे 11 बजे ही अर्जी दायर कर दी। 11 बजे करीब ही बीएस येदियुरप्‍पा ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। शुक्रवार को सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत उनकी याचिका पर गौर करे। उनके केस में आने से कांग्रेस-जेडीएस को समर्थन मिला है।

ये भी पढ़े : पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में TMC बम्पर आगे, भाजपा दूसरे स्थान पर

कांग्रेस नेता डीके सुरेश ने एक कांग्रेस विधायक के लापता होने की बात कही है। माना जा रहा है की बेल्‍लारी से एमएलए आनंद सिंह  मोदी के संपर्क है। वह बीजेपी के साथ चले गए हैं। सुरेश का कहना है बाकी सभी कांग्रेसी विधायक  रिजॉर्ट में मौजूद हैं। जेडीएस के विधायक भी साथ में ठहरे हुए हैं। कांग्रेस-जेडीएस अपने विधायकों को बीजेपी की पहुंच से दूर करने के लिए ईगलटन रिजॉर्ट ले गई है।

 

Loading...
loading...

You may also like

ममता की महारैली: अरुण शौरी बोले बंगाल की शेरनी ने किया विपक्ष को एकजुट

कोलकाता। 2019 का लोकसभा चुनाव जीतने के लिए