आईएएस अफसरों ने कहा जुबानी नही लिखित माफी मागे केजरीवाल

आईएएस
Please Share This News To Other Peoples....

दिल्ली।दिल्ली सरकार मुख्य सचिव पर हमला के मामले में आईएएस के ज्वॉइट फोरम के अफसरों ने रविवार (26 फरवरी) को हाथो में काली पट्टी बांधकर एक प्रेस कांफ्रेंस की, जिसमे अफसरों ने बताया की दिल्ली के वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब लिखित माफी मागे।

आईएएस: लिखित माफी मागे केजरीवाल

प्रेस कांफ्रेंस में अफसरों ने कहा अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जुबानी नही लिखित माफी मागे। प्रेस कांफ्रेंस में अफसरों ने हाथ में काली पट्टी बांधकर विरोध जताया था। आईएएस ज्वॉइंट फोरम की तरफ से पूजा जोशी कहना है कि हम चाहते है कि अरविन्द केजरीवाल जी से लिखित में माफी मांगने की मांग की। इस मामले में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री माफी मागने से इनकार क्यों कर रहे है। इससे तो लगता है कि ये सब एक षडयंत्र का हिस्सा है। दिल्ली सरकार के दो विधायकों अमानतुल्लाह खान और प्रकाश झारवाल पर दिल्ली मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट करने के आरोप लगे हैं। दोनों ही बिधयको को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के खिलाफ मुकदमा भी कर दिया गया है,अब घटना के बाद प्रशासनिक अधिकारियों में रोष देखा जा रहा है और वे केजरीवाल सरकार से कोई भी संवाद लिखित तरीके से ही कर रहे हैं।

ये भी पढ़े :भारत के मशहूर फुटबालर वाइचुंग भूटिया ने तृणमूल कांग्रेस का छोड़ा साथ 

शुक्रवार को दिल्ली सरकार की कैबिनेट ने कहा कि वे उपराज्यपाल से मिलकर अधिकारियो से बात करेगे। शनिवार को दिल्ली सरकार के मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने मामला शांत के लिए अधिकारियों को बातचीत का न्योता भी दिया था। केजरीवाल सरकार में मंत्री सीमापुरी से विधायक राजेन्द्र पाल गौतम ने बताया है कि मुख्य सचिव से कथित मारपीट के आरोपी विधायक जेल में हैं और पुलिस जांच कर रही है। अब तो अधिकारियों को सामान्य रूप से काम शुरू करना ही चाहिए।इस मामले जांच को लेकर सीएम केजरीवाल केंद्र की मोदी सरकार पर जरूरत से ज्यादा रुचि लेने का आरोप लगा चुके हैं। उन्होंने यहां तक कहा था कि केंद्र सरकार जज लोया केस में इसी तरह रुचि क्यों नहीं लेती?

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *