केजरीवाल ने शहीद नरेन्द्र के परिजनों से की मुलाक़ात, दिया इतने करोड़ का चेक

नई दिल्ली। सोनीपत करीब दो माह पहले पाकिस्तानी सेना का शिकार हुए शहीद नरेन्द्र सिंह के परिजनों के यहां आज देश की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक करोड़ की सहायता राशि देने पहुंचे। इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि क्रिकेट में शतक लगाने वाले खिलाडियों को सरकारें करोड़ों रूपये देती आ रही हैं, लेकिन शहीदों के परिवारों को एक भी रुपए की मदद नहीं दे पाती। साथ ही सीएम ने ये भी कहा कि उनका यही सपना था कि अगर कभी हमारी सरकार बनती है तो हम ऐसे कार्य करेंगे जिससे शहीदों के परिवार को लगे कि हमारा देश उनके साथ खड़ा है।

ये भी पढ़ें:-दिल्ली में बाहरी लोगों का नहीं होने देंगे इलाज : केजरीवाल सरकार 

इस दौरान उन्होंने ये भी बोला कि  49 दिन की सरकार में हमने शहीद के परिवार को 1 करोड़ रुपए देने का फैसला किया था। एक करोड़ बहुत छोटी राशि होती है,  पति और पिता को तो 100 करोड़ रुपए में भी वापस नहीं लाया जा सकता। उन्होंने बोला कि हमारी सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले पर राजधानी में केन्द्र सरकार से थोड़ा हस्तक्षेप ज्यादा है, क्योंकि नौकरी देने का फैसला केवल एलजी के हाथों में ही है। कहा कि 15-20 दिन में फैसला आ जाएगा फिर हम नौकरियां भी दे पाएंगे। जो फैसला हमने किया वो  70 साल पहले ही हो जाना चाहिए था, लेकिन किसी भी सरकार ने ऐसा नहीं किया।

ये भी पढ़ें:-भाजपा के सत्ता में आते ही दलितों पर हुई अत्याचार की शुरूआत- कांग्रेस 

उल्लेखनीय है कि जम्मू के साम्भा के रामगढ़ सेक्टर में गोलीबारी के दौरान घायल हुए शहीद को पाक रेंजर अगवा कर अपने साथ ले गए थे। जहां उन्होंने शहीद की छाती व पैर में गोली मारकर उसे मौत के घाट उतारा और उसके शव के साथ बर्बरता की और सीमा पर फेंक गए। आपको बता दें कि, जवान पाकिस्तानी गोलीबारी के बाद एक दिन पूर्व गायब हो गया था, जिसके बाद शाम को जीरो लाइन सीमा के पास उसका शव बरामद किया गया था। जवान की शहादत के बाद जहां हरियाणा सरकार ने शहीद के परिवार को 50 लाख रूपए की सहायता राशि देने के साथ सरकारी नौकरी देने की घोषणा की। वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने उन्हें 1 करोड़ रूपए व नौकरी देने की घोषणा की। जिसके लिए केजरीवाल द्वारा दिल्ली मंत्रीमंडल की बैठक में इससे संबंधित रखे गए प्रस्ताव को पास किया गया। जिसके अंतर्गत दिल्ली में लंबे समय से रहने वाले लोगों को भी दिल्ली सरकार की तरफ से सहायता दी जाएगी।

loading...
Loading...

You may also like

महिलाओं के खिलाफ हो रहे भेदभाव से देश का विकास प्रभावित- UNICEF

 नई दिल्ली। UNICEF के अनुसार भारत में महिलाओं