मंदिर चुनाव नहीं, हमारे लिए आस्था का प्रश्न: केशव प्रसाद मौर्य

मोदी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि बीजेपी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दोनों पक्षों के बीच सहमति को शीर्ष प्राथमिकता देती है। इस दौरान मौर्य ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की टिप्पणी के लिए उन्हें निशाने पर लेते हुए यह भी कहा कि रामलला को कोई जेल में नहीं रख सकता। बता दें कि ठाकरे ने पिछले महीने अयोध्या में कहा था कि जब वह उस जगह गए, जहां रामलला हैं तो लगा कि वह जेल में जा रहे हैं।

उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा, ‘मैं राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़ा रहा हूं। ठाकरे जी के आरोप सच्चाई से परे हैं। रामलला अनादि अनंत हैं और उन्हें जेल में रखना असंभव है।’ मौर्य ने कहा कि बीजेपी चाहती है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले या दोनों पक्षों के बीच सहमति से अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो।

ये भी पढ़ें:- मामा को बचाने का कांग्रेस पार्टी भरपूर प्रयास कर रही: संबित पात्रा 

उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा, ‘अगर दोनों ही विकल्प नहीं काम आते तो वैधानिक रास्ता अपनाया जाना चाहिए। बीजेपी की शीर्ष प्राथमिकता है कि मंदिर निर्माण का रास्ता तैयार करने के लिए सहमति बने।’ केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विवादित ढांचे को ढहाया जाना चर्चा का विषय नहीं है। देश की जनता को पता है कि वीएचपी ने ही राम जन्मभूमि के लिए संघर्ष किया है।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने दावा किया कि देश की जनता ने राम मंदिर निर्माण का विरोध करने वालों को पहचान लिया है। उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि बीजेपी के लिए मंदिर चुनाव से जुड़ा नहीं है बल्कि आस्था और विश्वास का प्रश्न है। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद के तथाकथित समर्थक समझ लें कि रामलला को उनकी मौजूदा जगह से कोई नहीं हटा सकता।

Loading...
loading...

You may also like

BJP की जीत से बॉलीवुड में जोश, सलमान से लेकर इन दिग्गजों ने दी बधाई

🔊 Listen This News इंटरटेनमेंट डेस्क। लोक सभा