Main Sliderख़ास खबरधर्मफैशन/शैलीराष्ट्रीय

जानिए कब शुरू हो रहा है सावन और कैसे करें भगवान शिव को प्रसन्न

सावन का महीना भगवान शिव को समर्पित होता है। इस महीने में हर दिन भगवान शिव और माता पार्वती की कठिन पूजा और उपासना की जाती है। इस महीने में भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। धार्मिक मान्यता है कि इस महीने में भगवान शिव की पूजा-उपासना करने से अविवाहित युवक और युवतियों की शीघ्र शादी हो जाती है। खासकर सावन के सोमवार व्रत का विशेष महत्व है। आइए, जानते हैं कि सावन कब से शुरू हो रहा है और कैसे भगवान शिव को प्रसन्न करें-

सावन कब से शुरू हो रहा है

हिंदी पंचांग के अनुसार, रविवार 5 जुलाई को आषाढ़ पूर्णिमा है। इसके अगले दिन से सावन शुरू हो रहा है। इस बार सावन सोमवार 6 जुलाई  को शुरू हो रहा है और महीने का अंत भी सोमवार 3 अगस्त के दिन हो रहा है। इस तरह इस बार सावन के महीने में 5 सोमवार व्रत है।

सावन सोमवार का महत्व

पौरणिक कथा के अनुसार, अनंतकाल में मां पार्वती ने भगवान शिव की कठिन तपस्या की और उन्हें पति रूप में प्राप्त करने के लिए सावन सोमवार का व्रत भी किया। इस व्रत के पुण्य-प्रताप से भगवान शिव ने उन्हें दर्शन देकर वरदान दिया कि आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। कालांतर में मां पार्वती और भगवान शिव का विवाह हुआ।

कैसे करें भगवान शिव को प्रसन्न

भगवान शिव की पूजा शिवलिंग स्वरूप में की जाती है। ऐसा कहा जाता है कि इस रूप में पूजा करने से भगवान शिव जल्द प्रसन्न होते हैं। इसके लिए सावन के महीने में शिवलिंग पर जलाभिषेक करें, पंचामृत से रुद्राभिषेक करें,  बिल्व पत्र अर्पित करें। इसके बाद भांग, धतूरा, आक का फूल आदि जरूर अर्पित करें। इस समय ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें। इससे भगवान प्रसन्न होते हैं और व्रती की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।

खासकर अविवाहित युवक और युवतियों के लिए यह महीना विशेष फलदायी होता है। जबकि विवाहित दंपत्ति वैवाहिक जीवन में मधुरता और निकटता के लिए सावन महीने में पंचामृत से भगवान शिव का अभिषेक करें। जबकि ॐ पार्वती पतये नमः मंत्र का जाप एक माला जरूर करें।

loading...
Loading...