मंत्रीपद बंटवारे को लेकर कुमारस्वामी ने कांग्रेस के सामने रखी यह शर्त

मंत्रीपदमंत्रीपद

नई दिल्ली। कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन से बनने वाली सरकार अब मंत्रीपद बंटवारे पर फैसला लेने जा रही है। यह बात तो साफ हो गयी है कि राज्य में कुमारस्वामी की सरकार बनेगी, लेकिन मंत्रालय के बंटवारे को लेकर कैसा फार्मूला बनाया जाए यह सबसे बड़ा सवाल है। बता दें कि इस गठबंधन में ज्यादा सीटें कांग्रेस के पास हैं। मंत्रीपद के बंटवारे के लिए कुमारस्वामी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व UPA अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाक़ात करेंगे। बताया जा रहा है कि मंत्रीपद के बंटवारे के लिए 20-13 का फार्मूला तैयार किया गया है। जिसमें कांग्रेस के 20 और जेडीएस के 13 मंत्री शामिल होंगे।

मंत्रीपद बंटवारे को लेकर कुमारस्वामी एक बार फिर मिलेंगे राहुल गांधी से

शनिवार की देर रात कांग्रेस और जेडीएस के दिग्गज नेताओं के बीच सरकार बनाने को लेकर मुलाकात हुई थी। जिसमें कुमारस्वामी के नेतृत्व में 20-13 का फॉर्मूला सामने आया है। जिसके मुताबिक कांग्रेस कोटे के 20 मंत्री नए मंत्रिमंडल में होंगे, जबकि जेडीएस के 13 विधायक मंत्री बनेंगे। कांग्रेस-जेडीएस के बीच बैठक में तमाम मंत्रालयों के बंटवारे को लेकर बातचीत चल रही है। जिसके आधार पर बताया जा रहा है कि कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद के अलावा वित मंत्रालय भी संभालेंगे। वहीं कांग्रेस के जी० परमेश्वर को उप-मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। साथ ही बाकी मंत्रालयों पर नाम तय करने के लिए कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं के बीच सोमवार को भी बैठक हो सकती है।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस ने सीखा हारी बाजी जीतने का हुनर, चाणक्य कर्नाटक में नहीं खिला पाए कमल 

23 मई को होगा शपथ ग्रहण

कर्नाटक में अब जेडीएस-कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। इस गठबंधन को राज्यपाल वजुभाई वाला ने सरकार बनाने के लिए आमंत्रित कर दिया है। बुधवार को जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। वहीं कुमारस्‍वामी अपने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी को आमंत्रण देने के लिए सोमवार को खुद दिल्‍ली जा सकते हैं। पहले सोमवार को शपथ लेने की बात कही जा रही थी, लेकिन बाद में इसमें परिवर्तन कर दिया गया। लिहाजा अब शपथ ग्रहण समारोह सोमवार की बजाय बुधवार को होगा।

loading...
Loading...

You may also like

दिल्ली सरकार पर एनजीटी ने ठोका 50 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की गाज