Laiken विलक्षण पौधा, औषधियों के विकास में होगी महत्वपूर्ण भूमिका

LaikenLaiken

लखनऊ। राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान, लखनऊ में Indian Lichenolgical Society तथा राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान, लखनऊ द्वारा ‘करेंट डेवलपमेंट एंड नेक्स्ट जेनरेशन लाइकेनोलॉजी’ विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन हुआ ।

ये भी पढ़ें :-Kasganj Live : पुलिस के नाकामी से जिले में फिर हिंसा शुरू, दो मुस्लिम युवक लापता

Indian Lichenolgical Society की दो दिवसीय कार्यशाला

  • डॉ. एस नायक सिक्रोररी, आईएलएस ने समाज की रिपोर्ट प्रस्तुत की।
  • सम्मेलन के बारे में विस्तार से चर्चा की।
  • डॉ. थॉर्स्टेन ने फफूदी से  बनने वाले लवणों के मूल्यांकन को समझने में प्रगति पर बल दिया।
  • उन्होंने जोर दिया कि पारंपरिक टैक्सोनॉमिकल स्टडीज ने लाइसेंसधारियों को शुरुआती ग्रहण किया है।
  • जबकि आणविक डेटा Laiken लाइफ स्टाइल का सुझाव देते हैं।

ये भी पढ़ें :-true love के बावजूद भी उतारा मौत के घाट, कोर्ट से भी मिली रिहाई 

जीवन के कवक के पेड़ में विकसित हुए

  • जो हाल ही में जीवन के कवक के पेड़ में विकसित हुए हैं और यह लोनिफेनिज्ड कवक भूमि पौधों के समानांतर में विविधतापूर्ण है।
  • प्रो. मैनहोराचारी ने कुछ पहलुओं और विशेष रूप से पश्चिमी घाट से लाइसेंस प्राप्त होने की संभावना पर जोर दिया।
  • प्रोफेसर डाइवाकर, शास्त्रीय व्यवस्था से फिलेोजेनोमिक्स तक लिकंज परिवार परमेलियासी के बारे में चर्चा की।
  • इस सम्मेलन में पूर्व संयुक्त निदेशक, बीएसआई, इलाहाबाद, डॉ. के पी सिंह ने डॉ. डीडी अवस्थी को  पहले मेमोरियल लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया है।
  • इंडियन लाइकेनोलोजी सोसाइटी के अध्यक्ष डॉ॰ डीके उप्रेती हैं ।
  • सचिव डॉ॰ संजीवा नायका ने उक्त कार्यशाला का आयोजन भारत में पहली बार सम्पन्न कराया है।
  • उनका कहना है कि Laiken एक विलक्षण पौधा है ।
  • जो   भविष्य में महत्वपूर्ण औषधियों के विकास में एक आगामी भूमिका निभाएंगे ।
loading...
Loading...

You may also like

भारी विरोध के बीच लोकसभा में फिर पेश हुआ ‘ट्रिपल तलाक’ विधेयक

नई दिल्ली। मुस्लिम महिलाओं को समान नागरिक अधिकार